Presentation Of A Statement Of Estimated Recipts And Expenditure Of … on 26 February, 2007

Lok Sabha Debates
Presentation Of A Statement Of Estimated Recipts And Expenditure Of … on 26 February, 2007


an>

Title: Presentation of a statement of estimated recipts and expenditure of the Government of India for the year 2007-08 in respect of Railways.

 

MR. SPEAKER: Now the House will take up Railway Budget 2007-08.

रेल मंत्री (श्री लालू प्रसाद): महोदय, मैं यह चौथा रेल बजट प्रस्तुत करते हुए बेहद कृतज्ञ एवं गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ। अध्यक्ष महोदय, माननीय सोनिया गांधी जी के मार्गदर्शन में और प्रधानमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में आज भारतीय रेल इज़ाफे की ओर जा रही है । यह गरीबोन्मुखी बजट है, इस बजट को ये लोग सुनना नहीं चाहते हैं।….(व्यवधान) मुझे गर्व इस बात का है क आम जनता पर कोई बोझ डाले बिना रेलवे गत वर्ष वे 14 हजार 700 करोड़ रुपये की तुलना में इस वर्ष बीस हजार करोड़ रुपये का मुनाफा भारतीय रेल ने बनाया है । कैश सरप्लस अर्जित करने का एक नया इतिहास रचा है । इसी से ये लोग घबरा कर और बहाना बना कर गरीबों के बजट को सुनना नहीं चाहते हैं…..(व्यवधान) **

MR. SPEAKER : Unparliamentary words will not go on record.

श्री लालू प्रसाद:  लाभांश पूर्व वैश सरप्लस अर्िजत करने का एक नया इतिहास रचने जा रही है। यह वही रेलवे है जो वर्ष 2001 में डविडेंड का भुगतान करने से चूक गई थी और जिसका पंड बैलेंस गिरकर 359 करोड़ रुपये रह गया था। ये लोग गरीबों का बहाना बनाते हैं, लेकिन गरीबों की बात सुनना नहीं चाहते हैं। भा.ज.पा. के शासन में डिवीडेंड देने की स्थिति नहीं थी । इसलिए ये घबराए हुए हैं ….. (Interruptions)* मैं तहेदिल से आभारी हूँ उन चौदह लाख रेलकर्िमयों का जिन्होंने कड़ी प्रतियोगिता का सामना पूरे जोश-JÉ®Éä¶É और बेजोड़ टीम भावना वे साथ किया। महोदय, जब कृष्ण भगवान ने संकट वे समय गोवर्धन पर्वत को उंगली पर उठा लिया था तो वे गिरधर कहलाये लेकिन पर्वत उठाने में हजारों ग्रामवासियों की लाठियाँ उन्हें सहारा दे रही थीं। आज भले ही लोग रेलवे वे कायाकल्प का श्रेय मुझे दे रहे हैं लेकिन मैं पूरी विनम्रता वे साथ सम्मानित सदन को यह बताना चाहूंगा क यह करिश्मा चौदह लाख रेलकर्िमयों वे अथक परिश्रम और देशवासियों वे अपार स्नेह और समर्थन की बदौलत ही हो पाया है। महोदय, मैं बस इतना ही कहना चाहूँगा क-

* Placed in Library.  See No. LT 5796/07

नवाजिश है सबकी, करम है सभी का,

बड़े फा से हम बुलंदी पर आये।

तरक्की वे सारे मयारों से आगे,

नये ढंग लाये, नई सोच लाये॥

 

हमने यात्री किरायों में कमी वे बावजूद ऐतिहासिक सरप्लस अर्िजत करवे इस मिथक को तोड़ा है क रेलवे अपने सामाजिक दायित्वों की वजह से वित्तीय संकट में पंसती जा रही थी।

MR. SPEAKER: It is a very sad day that presentation of the Railway Budget, which is a constitutional requirement, is not being allowed.

श्री लालू प्रसाद: वस्तुत: हमारी कायाकल्प की रणनीत व्यावसायिक सूझ-¤ÉÚZÉ एवं आम जनता वे प्रत संवेदनशीलता का ऐसा प्रतीक बन गई है जिसने भारतीय रेल को देश-विदेश में आकर्षण का वेंद्र बना दिया है:

माना क बड़ी-बड़ी बातें करना हमें नहीं आया

मगर दिल पर बड़ी कारीगरी से नाम लिखते हैं

चालू ´É­ÉÇ àÉå ÉÊxÉ­{ÉÉnxÉ

चालू वर्ष वे प्रथम नौ माह में रेलवे ने रिकार्ड तोड़ निष्पादन किया है। प्रथम नौ महीनों में हमारी यात्री आय में 14 प्रतिशत एवं अन्य कोचिंग आय में 48 प्रतिशत की वृद्ध दर्ज की गई है। दिसंबर माह तक माल आय एवं सकल यातायात आय में 17 प्रतिशत की ऐतिहासिक वृद्ध दर्ज की गई है। अभी तक दर्ज की गई वृद्ध को ध्यान में रखते हुए यात्री, अन्य कोचिंग, माल एवं सकल यातायात आय वे संशोधित अनुमान ामश: 17 हजार 400, 1 हजार 726, 42 हजार 299, एवं 63 हजार 120 करोड़ रुपये निर्धारित किये गये हैं। सकल यातायात आय गत वर्ष की अपेक्षा 16 प्रतिशत और बजट अनुमानों की अपेक्षा 5.5 प्रतिशत बढ़ने की संभावना है।

डीजल वे दामों एवं बढ़ी हुई दरों पर बोनस वे भुगतान वे बावजूद खर्चों में किफायत बरत कर साधारण संचालन व्यय को नियंत्रित रखा गया है। लेखा सुधार की प्रािया वे तहत सामरिक द्ृष्ट से महत्वपूर्ण लाइनों वे परिचालन हेतु हो रहे खर्चों वे लिए वित्त मंत्रालय से मिलने वाली राश को साधारण संचालन व्यय से घटाने वे बाद दिखाया गया है। तद्नुसार संशोधित अनुमान में इन्हें 64 करोड़ रुपये बढ़ाकर 38 हजार 91 करोड़ रुपये पर निर्धारित किया गया है। संशोधित अनुमानों में डीआरएफ और पेंशन पंड वे लिए ामश: 4 हजार 108 और 7 हजार 416 करोड़ रुपये का प्रावधान करने पर कुल संचालन व्यय 49 हजार 615 करोड़ रुपये होने की संभावना है।  इस प्रकार लाभांश वे भुगतान से पूर्व रेलवे का वैश सरप्लस 20 हजार 63 करोड़ रुपये, शुद्ध राजस्व 14 हजार 870 करोड़ रुपये एवं 3 हजार 579 करोड़ रुपये का चालू वर्ष का लाभांश एवं 663 करोड़ रुपये का बकाया लाभांश का भुगतान करने वे बाद शुद्ध सरप्लस 10 हजार 627 करोड़ रुपये होने की संभावना है। वर्ष 2006-07 में रेलवे का आपरेटिंग रेशियो 78.7 होने की संभावना है। महोदय, रेलवे वे 150 साल से अधिक वे गौरवशाली इतिहास में शायद यह पहला वर्ष है जब हमारा पंड बैलेंस बढ़कर 16 हजार करोड़ रुपये और लगाई गई पूंजी पर रिटर्न का प्रतिशत अर्थात् प्रभार्य पूंजी पर शुद्ध राजस्व रेशियो 20 प्रतिशत वे ऐतिहासिक स्तर पर पहुँच जाएगा। भारतीय रेलवे का नाम अब विश्व की उन चुनिंदा रेलवे में शुमार हो जायेगा जिनका ऑपरेटिंग रेशियो 80 प्रतिशत से कम है। लेकिन हमें इस उपलब्ध से संतुष्ट नहीं होना है। वस्तुत: नये उत्साह और जोश से लबालब रेलकमर्ी अब विकास की एक नई कहानी लिखने वे लिए बेताब है: 

जितना अब तक देख चुवे हो, ये तो बस शुरुआत है।

JÉäãÉ तमाशा आगे देखो दरियादिल सौदागर का॥

माल व्यवसाय की ऊँची छलांग

माल परिवहन में लगातार तीसरे साल हमारा प्रदर्शन शानदार रहा है और इस वर्ष लगभग 60 मलियन टन की अतरित्त लोडिंग होने की संभावना है। इस प्रकार यूपीए सरकार वे तीन वर्षों में लगभग 170 मलियन टन की अतरित्त लोडिंग हो जाएगी जो 90 वे पूरे दशक में हुई अतरित्त लोडिंग वे 120 प्रतिशत से अधिक है।  इस प्रगत दर को बनाये रखने वे लिए हमने जहाँ एक ओर गाड़ियों की उपलब्धता में सुधार लाने वे लिए अनेक कदम उठाये हैं वहीं बाजार एवं ग्राहकों की जरूरतों वे आलोक में अपनी नीतियों को ढाला है।

स्टील +ÉÉè® सीमेंट ट्रैफिक- मिशन 200 मलियन टन

महोदय, 1991 में नई आर्िथक नीत लागू होने वे बाद से रेलवे लगातार सीमेंट और स्टील वे परिवहन में अपनी भागीदारी गंवाती रही है। फलस्वरूप इन वस्तुअों वे परिवहन में हमारा हिस्सा 1991 वे दो तिहाई की तुलना में घटकर एक तिहाई वे लगभग रह गया।

MR. SPEAKER: Only the Railway Minister’s Speech will go on record.

श्री लालू प्रसाद: àÉÖZÉä ºÉnxÉ BÉEÉä ªÉc VÉÉxÉBÉEÉ®ÉÒ देते हुए c­ÉÇ cÉä ®cÉ cè ÉÊBÉE càÉxÉä <ºÉ ´É­ÉÇ BÉäE |ÉlÉàÉ xÉÉè àÉcÉÒxÉÉå àÉå ºÉÉÒàÉå] +ÉÉè® º]ÉÒãÉ BÉäE {ÉÉÊ®´ÉcxÉ àÉå +É{ÉxÉÉÒ ÉÊcººÉänÉ®ÉÒ पाँच से ºÉÉiÉ |ÉÉÊiɶÉiÉ iÉBÉE ¤É¸É<Ç cè*

12.11 hrs.

( Then Prof. Ram Gopal Yadav and some other Hon. Members went

out of the House)

 

श्री लालू प्रसाद: इस वर्ष सीमेंट और स्टील उद्योग ने VÉcÉÄ 10 प्रतिशत की वृद्ध दर्ज की है वहीं हमारे सीमेंट और स्टील ट्रैफिक में बीस से तीस प्रतिशत तक की वृद्ध हुई है। यह बाजार और ग्राहक उन्मुख नीतियों का ही नतीजा है। अब हमने मिशन 200 मलियन टन पर अपना ध्यान वेंद्रित किया है।  càÉ +ÉɶÉÉ BÉE®iÉä cé ÉÊBÉE 2011-12 तक सीमेंट और स्टील  दोनों उद्योगों से  रेलवे का ट्रैफिक बढकर दो-दो ºÉÉè ÉÊàÉÉÊãɪÉxÉ टन cÉä VÉÉAMÉÉ*

वंटेनर ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE- मिशन 100 मलियन टन

महोदय, पिछले दो ´É­ÉÉç àÉå BÉÆE]äxÉ® ]ÅäxÉ SÉãÉÉxÉä BÉäE ÉÊãÉA 15 लाइसेंस निर्गत किये जा चुवे हैं। मिशन 100 मलियन टन वे अंतर्गत हम 2011-12 तक वंटेनर ट्रैफिक 20 मलियन टन ºÉä ¤É¸ÉBÉE® 100 मलियन टन करने का हर संभव प्रयास करेंगे। हमें विश्वास है क अगले पाँच सालों में कई हजार करोड़ रुपये का निवेश वंटेनर वैगन, टर्िमनल और इससे जुड़ी अन्य रेल संरचना वे विकास में किया जायेगा।

<xÉ nÉäxÉÉå ÉÊàɶÉxÉÉå BÉEÉä |ÉÉ{iÉ BÉE®xÉä BÉäE ÉÊãÉA càÉxÉä ABÉE =SSɺiÉ®ÉÒªÉ कार्य दल MÉÉÊ~iÉ ÉÊBÉEªÉÉ cè VÉÉä ãÉMÉÉiÉÉ® ºÉÉÒàÉå], स्टील उद्योग और वंटेनर ऑपरेटरों से वार्ता कर उनकी आवश्यकताअों BÉäE +ÉxÉÖ°ô{É ÉʴɶÉä­É {ÉèBÉäEVÉ iÉèªÉÉ® BÉE® ÉÊ#ÉEªÉÉÉÎx´ÉiÉ करेगा।

टि्रपल स्टैक वंटेनर ट्रेन

महोदय, हमने डीजल रूट {É® b¤ÉãÉ º]èBÉE BÉÆE]äxÉ® ]ÅäxÉ SÉãÉÉxÉä BÉEÉ ºÉ{ÉEãÉ |ɪÉÉäMÉ ÉÊBÉEªÉÉ cè +ÉÉè® +É¤É ÉÊ{É{ÉÉ´ÉÉ´É से VɪÉ{ÉÖ® iÉBÉE b¤ÉãÉ º]èBÉE BÉÆE]äxÉ® ]ÅäxÉ SÉãÉ ®cÉÒ cè* ´É­ÉÇ 2007-08 में पायलट बेसिस पर कम ऊंचाई ´ÉÉãÉä BÉÆE]äxÉ®Éå वे ºÉÉlÉ bÉÒVÉãÉ °ô] {É® iÉÉÒxÉ àÉÆÉÊVÉãÉ ´ÉÉãÉÉÒ BÉÆE]äxÉ® ]ÅäxÉ A´ÉÆ ÉÊ´ÉtÉÖiÉÉÒBÉßEiÉ मार्गों पर b¤ÉãÉ º]èBÉE BÉÆE]äxÉ® ]ÅäxÉ SÉãÉÉxÉä BÉäE |ɪÉÉºÉ ÉÊBÉEªÉä VÉÉAÆMÉä* <ºÉ iÉ®c BÉäE BÉÆE]äxÉ® àÉÉä]® ´ÉÉcxÉÉå BÉäE ãÉnÉxÉ àÉå ¤ÉcÖiÉ ={ɪÉÉäMÉÉÒ होंगे।

दीर्घकालीन सर्िवस लेवेल एग्रीमेंट

हाल ही में हमने कोयले वे परिवहन वे लिए तीस सालों का दीर्घकालीन सर्िवस लेवेल एग्रीमेंट अर्थात् एसएलए साइन किया है। देश में अनेक नये सीमेंट, स्टील एवं àÉäMÉÉ {ÉÉì´É® {ãÉÉÆ] ãÉMÉ ®cä cé* càÉ =xÉBÉäE BÉEÉ®JÉÉxÉÉå तक नई रेलवे लाइन बिछाने अथवा लाइन क्षमता का ÉʴɺiÉÉ® BÉE®xÉä, उनकी आवश्यकता BÉäE +ÉxÉÖ°ô{É xɪÉä ÉÊbVÉÉ<xÉ वे ´ÉèMÉxÉ ={ÉãɤvÉ BÉE®ÉxÉä, मूल्य नीत बनाने एवं लोडिंग-अनलोडिंग टर्िमनल विकसित करने में उन्हें पूरा सहयोग और समर्थन देंगे। हम सभी उद्यमियों को रेलवे वे साथ दीर्घकालिक एसएलए साइन करने वे लिए आमंत्रित करते हैं।

कोयले BÉäE लिए मैरी गो राउंड सिस्टम

एनटीपीसी सहित कई वंपनियाँ स्वयं एमजीआर सिस्टम को ऑपरेट कर रही हैं। नये पॉवर प्लांट भी एमजीआर सिस्टम बनाने की योजना बना रहे हैं। रेलवे को इस प्रकार की प्रणाली अधिक कार्यकुशल एवं किफायती तरीवे से चलाने की दक्षता हासिल है। अत: हम ऐसी सभी नई एवं पुरानी वंपनियों को एमजीआर चलाने वे लिए रेलवे वे साथ एसएलए करने वे लिए आमंत्रित करते हैं।

MR. SPEAKER: Do not show papers. It is a breach of privilege.  I will have to issue notice.  Do not do that.

श्री लालू प्रसाद: हम उन्हें आश्वस्त करना चाहते हैं क रेलवे उनकी मौजूदा परिवहन लागत से कम लागत पर कोयले का परिवहन करेगी।

प्रेट टर्िमनल्स BÉEÉ विकास

बंगलोर वे गुड्स शेड में वेयर हाउस काम्प्लेक्स बन जाने वे बाद रेलवे ट्रैफिक में शानदार वृद्ध दर्ज की गई है। अत: हमने निर्णय लिया है क एक महीने में 15 से VªÉÉnÉ ®äBÉE cébãÉ BÉE®xÉä ´ÉÉãÉä |ÉäE] ]ÉÊàÉÇxÉãºÉ में ºÉ£ÉÉÒ àÉÚãÉ£ÉÚiÉ ºÉÖÉÊ´ÉvÉÉAÆ विकसित करने वे BÉEÉàÉ BÉEÉä +ÉMÉãÉä iÉÉÒxÉ ´É­ÉÉç àÉå {ÉÚ®É ÉÊBÉEªÉÉ VÉÉAMÉÉ* <xÉ BÉEɪÉÉç BÉäE ÉÊãÉA vÉxÉ®ÉÉ榃 BÉEÉÒ BÉEàÉÉÒ xÉ cÉä <ºÉÉÊãÉA हमने प्रेट टर्िमनल्स वे ÉÊ´ÉBÉEɺÉ, उन्नयन एवं रख-रखाव वे लिए एक नया उप योजना शीर्ष सृजित करने का निर्णय लिया है। ऐसी योजनाअों को ाियान्वित करने वे लिए इरकान, वेआरसीएल एवं ºÉÉ´ÉÇVÉÉÊxÉBÉE निजी भागीदारी सहित सभी विकल्पों पर ÉÊ´ÉSÉÉ® ÉÊBÉEªÉÉ VÉÉAMÉÉ*

एनटीकेएम जीटीकेएम रेशियो में सुधार

महोदय, रेलवे एक ]xÉ ®ÉVɺ´É ={ÉÉÉÊVÉÇiÉ करने वाला माल ढोने वे ÉÊãÉA ABÉE ]xÉ ºÉä BÉÖEU BÉEàÉ ]äªÉ®´Éä] +ÉlÉÉÇiÉ ¤ÉÉäZÉÉ fÉäiÉÉÒ cè* <ºÉ +ÉxÉÖ{ÉÉiÉ àÉå ABÉE |ÉÉÊiɶÉiÉ ºÉÖvÉÉ® cÉäxÉä ºÉä ®äãÉ´Éä BÉEÉä ºÉÉãÉÉxÉÉ 1 हजार 500 करोड़ रुपये की अतरित्त आय होगी। देश की बात करो। …….(interruptions)*  +ÉiÉ& +ÉMÉãÉä BÉÖEU ´É­ÉÉç àÉå <ºÉ +ÉxÉÖ{ÉÉiÉ àÉå {ÉÉÄSÉ |ÉÉÊiɶÉiÉ ºÉÖvÉÉ® ãÉÉxÉä BÉäE ÉÊãÉA MÉÉÉʽªÉÉå BÉEÉ {Éä-लोड बढ़ाना और टेयरवेट घटाना, गाड़ियों को दोनों दिशाअों में लोड करना, रख-रखाव एवं परीक्षण वे लिए गाड़ियों को कम से कम खाली दौड़ाना जैसे अनेक उपाय एक साथ करने होंगे। सभी प्रकार वे वैक्यूम ब्रेक रोलिंग स्टॉक को दो किश्तों में पेज आउट किया जाएगा। गाड़ियों वे रखरखाव एवं परीक्षण में हो रही एम्प्टी रनिंग को कम करने वे लिए हम वैगनों वे रिपेयर और परीक्षण बिंदुअों को इस प्रकार से पुनव्र्यवस्थित ÉÊBÉEªÉÉ VÉÉAMÉÉ ÉÊBÉE Aà{]ÉÒ ®ÉÊxÉÆMÉ BÉEàÉ ºÉä BÉEàÉ cÉä* +ÉxÉäBÉE MÉÉÉʽªÉÉå àÉå BÉÖEU AäºÉä ´ÉèMÉxÉ ®ciÉä cé VÉÉä nÉäxÉÉå ÉÊn¶ÉÉ+ÉÉå àÉå JÉÉãÉÉÒ SÉãÉiÉä cé* A{ÉE+ÉÉä+ÉÉ<AºÉ वे {ÉÚ®É cÉä VÉÉxÉä {É® <ºÉ iÉ®c BÉäE ´ÉèMÉxÉÉå BÉEÉÒ ºÉÆJªÉÉ A´ÉÆ ºlÉÉxÉ BÉEÉ {ÉiÉÉ ãÉMÉÉ BÉE® =ºÉä MÉɽÉÒ ºÉä ÉÊxÉBÉEÉãÉBÉE® निकटस्थ डिपो में ÉÊ®{ÉäªÉ® BÉE®ÉxÉä BÉEÉÒ BÉEɮǴÉÉ<Ç की जाएगी।

* Not recorded

 

हायर एक्सल ãÉÉäb की मालगाड़ियाँ

 मुझे सदन को यह जानकारी देते हुए हर्ष हो रहा है क पायलट बेसिस पर 22.3 और 22.9 टन एक्सल लोड लागू करने वे अच्छे परिणाम आये हैं। हाल ही में पायलट बेसिस पर 25 टन ABÉDºÉãÉ ãÉÉäb BÉEÉÒ MÉÉÉʽªÉÉÄ SÉãÉÉ<Ç MÉ<Ç cé* ´É­ÉÇ 2007-08 वे दौरान अनेक रूटों पर 22.9 टन एक्सल लोड वाली गाड़ियाँ तथा कुछ और रूटों पर 25 टन ABÉDºÉãÉ ãÉÉäb BÉEÉÒ MÉÉÉʽªÉÉÄ SÉãÉÉó घोड़ा है। ´ÉèMÉxÉ =i{ÉÉnBÉEiÉÉ में 10 प्रतिशत वृद्ध होने से रेलवे की सालाना आय 4 हजार करोड़ रुपये बढ़ जाती है। टर्न राउंड टाइम घटाकर और पे-लोड बढ़ाकर हमने कई हजार करोड़ रुपये कमाये हैं। +ÉÉ®bÉÒAºÉ+ÉÉä द्वारा 22.9 टन एक्सल लोड वे लिए उपयुत्त खुले एवं कवर्ड वैगनों वे नये डिजाइन तैयार किये हैं जिनका पे-लोड टेयर वेट रेशियो 3 से +ÉÉÊvÉBÉE cè* AäºÉä ´ÉèMÉxÉÉå ºÉä ¤ÉxÉÉÒ JÉÖãÉÉÒ A´ÉÆ BÉE´ÉbÇ àÉÉãÉMÉɽÉÒ की लदान क्षमता भी +ÉÉVÉ BÉEÉÒ MÉÉÉʽªÉÉå BÉEÉÒ +É{ÉäFÉÉ #ÉEàɶÉ& 10 एवं 30 प्रतिशत अधिक है। अत: हमने निर्णय लिया है क रेलवे द्वारा 2007-08 में की जाने वाली नविदा से 20.3 टन एक्सल लोड वे पुराने डिजाइन वे खुले एवं कवर्ड वैगनों का उत्पादन बंद कर दिया जाएगा। 2007-08 से 22.9 टन एक्सल लोड वे नये डिजाइन वे वैगन वे साथ-साथ 25 टन एक्सल लोड वे वैगन का भी उत्पादन प्रारंभ किया जाएगा। इसी प्रकार 22.9 एक्सल लोड वे स्टील एवं पेट्रोलियम पदार्थों वे लदान में उपयोग होने वाले वैगन भी तैयार कराये जाएंगे।

निर्माताअों द्वारा नये डिजाइन वे वैगन का निर्माण

रेलवे आरडीएसओ द्वारा दिये गये डिजाइन वे अनुसार वैगनों का निर्माण कराती है। हमने इस पूरी पद्धत में आमूलचूल परिवर्तन करने का निर्णय लिया है। अब वैगन निर्माता आरडीएसओ द्वारा अनुमोदित बोगी, कपलर, ड्राफ्ट एवं ब्रेक गियर का उपयोग करते हुए अपने डिजाइन वे अनुसार वैगन तैयार कर सवेंगे। आरडीएसओ uÉ®É xɪÉä ÉÊbVÉÉ<xÉ वे ´ÉèMÉxÉ BÉEÉä ºÉÆ®FÉÉ BÉäE oÉέ]BÉEÉähÉ से +ÉÉÊvÉBÉEiÉàÉ नौ àÉcÉÒxÉä BÉäE +ÉÆiÉMÉÇiÉ |ÉàÉÉÉÊhÉiÉ एवं +ÉxÉÖàÉÉäÉÊniÉ किया जाएगा। महोदय, ज्यादा पे-लोड और कम टेयरवेट वाले नई तकनीक वे वैगन पुराने वैगनों की अपेक्षा मँहगे होंगे। अत: नई तकनीक वे वैगनों का विकास एवं उत्पादन प्रोत्साहित करने वे लिए मालभाड़े में डिस्काउंट देने की नीत इस प्रकार बनाई जाएगी ताक नई तकनीक का फायदा रेलवे और निवेशक दोनों को मिल सवे। इस बारे में विस्तृत मार्गदर्शक सिद्धांत शीघ्र निर्गत किये जाएंगे।

रोलिंग स्टाक रख-रखाव की व्यवस्था

महोदय, हमने अपने रोलिंग स्टाक का ¤ÉäciÉ®ÉÒxÉ उपयोग कर ={ÉãɤvÉ ºÉƺÉÉvÉxÉÉå से cÉÒ +ÉÉÊvÉBÉE àÉÉãÉ ãÉnÉxÉ ÉÊBÉEªÉÉ cè* <ÆVÉxÉ +ÉÉè® bÅÉ<´É® BÉäE ÉÊãÉÆBÉDºÉ BÉEÉ ªÉÖÉÊkÉEBÉE®hÉ करवे हमने पिछले दो ´É­ÉÉç àÉå BÉÖEãÉ 250 से अधिक इंजनों को बचाकर उन्हें दूसरी ट्रेनों को चलाने में लगाया है। प्रतदिन 5 से अधिक मालगाड़ियों का परीक्षण करने वाले परीक्षण यार्डों को अपग्रेड कर उनमें विश्वस्तरीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। वर्ष 2007-08 वे दौरान अधिकांश एयर ब्रेक वाली गाड़ियों का परीक्षण प्रीमियम सीसी अथवा प्रीमियम एंड टु एंड परीक्षण पद्धत वे अनुसार करने का लक्ष्य प्राप्त किया जाएगा। हमने सभी प्रकार वे रोलिंग स्टॉक में यूनिट एक्सचेंज मेन्टीनेन्स की व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया है। इस व्यवस्था से रोलिंग स्टॉक की उत्पादकता में उल्लेखनीय सुधार होगा।

थ्रूपुट एनहैन्समेंट कार्य

महोदय, वर्तमान प्रगत दर बनाये रखने वे लिए बीस हजार किलोमीटर लंबे हाई डेंसिटी नेटवर्व पर तेजी से क्षमता विस्तार करना नितांत जरूरी है। इन मार्गों पर किये जाने वाले निवेश का पूरा लाभ प्राप्त करने वे लिए रूट वार कार्य योजना बनाकर वभिन्न कार्यों को समेकित रूप से ाियान्वित किया जाएगा। इस नेटवर्व को 23 टन एवं मिनरल रूट को 25 टन एक्सल लोड की गाड़ियाँ चलाने वे लिए उपयुत्त बनाया जाएगा। ऐसे मार्गों पर लाइन क्षमता वे विस्तार वे लिए आवश्यकतानुसार दूसरी, तीसरी अथवा चौथी लाइन का निर्माण किया जाएगा। लाइन क्षमता में विस्तार करने वे लिए दो सेक्शनों वे बीच की दूरी आईबीएस लगाकर घटाई जाएगी और व्यस्त जंक्शनों वे दोनों ओर आटोमेटिक सिगनलिंग की व्यवस्था की जाएगी। निर्बाध और तेज गत से रेल संचालन सुनिश्चित करने वे लिए व्यस्त जंक्शन स्टेशनों पर फ्लाई ओवर, बाई पास इत्याद का निर्माण किया जाएगा और यार्ड डिजाइन में परिवर्तन कर गाड़ियों वे ाॉस मूवमेंट से बचा जाएगा। ऐसे मार्गों पर 30 किमी प्रतिघंटा की उच्च स्पीड वाले टर्न आउट लगाये जाएंगे। वर्ष 2007-08 में दो-दो सौ डीजल और इलेक्टि्रक इंजन एवं 11 हजार वैगन का उत्पादन किया जाएगा। थ्रूपुट एनहैन्समेंट कार्यों वे लिए धनराश की कमी नहीं होने दी जाएगी।

शिकायत निवारण प्रणाली

महोदय, अधिकांश रेल OÉÉcBÉEÉå BÉEÉä ]èÉÊ®{ÉE ºÉä xÉcÉÓ +ÉÉÊ{ÉiÉÖ ºÉä´ÉÉ BÉEÉÒ MÉÖhÉ´ÉkÉÉ VÉèºÉä ÉʤÉÆnÖ+ÉÉå पर càɺÉä ÉʶÉBÉEɪÉiÉ है। +ÉiÉ& càÉxÉä ÉÊxÉhÉÇªÉ ÉÊãɪÉÉ cè ÉÊBÉE c® VÉÉäxÉãÉ ®äãÉ´Éä àÉå OÉÉcBÉEÉå BÉEÉÒ ºÉàɺªÉÉAÆ ºÉÖxÉxÉä BÉäE ÉÊãÉA ABÉE AºÉAVÉÉÒ OÉäb BÉEÉ +É{ÉEºÉ® xÉÉÉÊàÉiÉ ÉÊBÉEªÉÉ VÉÉAMÉÉ +ÉÉè® =xcå ÉÊxÉnäÇ¶É ÉÊnªÉÉ VÉÉAMÉÉ ÉÊBÉE iÉÉÒxÉ àÉcÉÒxÉä BÉäE +ÉÆn® =xÉ OÉÉcBÉEÉå BÉEÉÒ ºÉ£ÉÉÒ ÉʶÉBÉEɪÉiÉÉå का ÉÊxɺiÉÉ®hÉ करे। मैंने अपने स्तर {É® £ÉÉÒ ºÉ£ÉÉÒ àÉÉãÉ OÉÉcBÉEÉå BÉäE ÉÊãÉA ABÉE àÉÉãÉ OÉÉcBÉE ºÉàÉx´ÉªÉ {É®ÉàɶÉÇnÉjÉÉÒ समत का MÉ~xÉ ÉÊBÉEªÉÉ cè*

बाजार सवर्ेक्षण

रेलवे का 90 |ÉÉÊiɶÉiÉ ºÉä +ÉÉÊvÉBÉE àÉÉãÉ ´ªÉ´ÉºÉÉªÉ SÉÆn ´ÉºiÉÖ+ÉÉå BÉäE {ÉÉÊ®´ÉcxÉ ºÉä cÉÒ |ÉÉ{iÉ cÉäiÉÉ cè* ´ªÉÉ{ÉÉ® BÉEÉä ´ªÉÉ{ÉBÉE +ÉÉvÉÉ® |ÉnÉxÉ BÉE® |ÉMÉÉÊiÉ n® BÉEÉä ºlÉÉÉʪÉi´É |ÉnÉxÉ BÉE®xÉä BÉäE ÉÊãÉA ®äãÉ´Éä uÉ®É {ÉÉÊ®´ÉcxÉ BÉEÉÒ VÉÉxÉä ´ÉÉãÉÉÒ ´ÉºiÉÖ+ÉÉå BÉäE nɪɮä A´ÉÆ ºÉÆJªÉÉ BÉEÉä ÉÊ´ÉÉÊ´ÉvÉiÉÉ |ÉnÉxÉ BÉE®xÉÉ SÉÉciÉä cé* ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE BÉEÉÒ xÉ<Ç ºÉÆ£ÉÉ´ÉxÉÉ+ÉÉå BÉEÉ {ÉiÉÉ ãÉMÉÉxÉä BÉäE ÉÊãÉA VÉÉäxÉãÉ ®äãÉ´Éä uÉ®É ABÉE º´ÉiÉÆjÉ àÉÉBÉäÇEÉÊ]ÆMÉ AVÉåºÉÉÒ BÉEÉä ÉÊxɪÉÖkÉE ÉÊBÉEªÉÉ VÉÉAMÉÉ*

यात्री व्यवसाय

महोदय, यात्री किराया बढ़ाने से प्रत पैसेंजर आय तो बढ़ सकती है लेकिन जरूरी नहीं क इससे ट्रेन से प्राप्त होने वाली आमदनी में भी इजाफा हो। हमने चालू वर्ष में लोकप्रिय गाड़ियों में सात सौ अतरित्त डिब्बे लगाकर न वेवल जरूरतमंद लोगों को यात्रा कराई अपितु रेलवे की आमदनी भी बढ़ाई। खुली नविदा वे माध्यम से पार्सल एवं वैटरिंग लाइसेंस देने की हमारी नीत भी रंग लाई है। वर्ष 2006-07 में अन्य कोचिंग आय में 48 प्रतिशत और वैटरिंग लाइसेंस फीस से प्राप्त होने वाली आय बढ़कर 120 करोड़ रुपये होने की संभावना है। यही कारण है क किरायों में की गई कटौती वे बावजूद चालू वर्ष में यात्री व्यवसाय में हो रहे घाटे में कमी होने की संभावना है। महोदय, हमने दिखा दिया है क आम जनता की सेवा करते हुए भी वॉल्यूम गेम खेलकर कमाई की जा सकती है। वर्ष 2007-08 में भी हम इस खेल को जारी रखते हुए लोकप्रिय गाड़ियों में आठ सौ अतरित्त डिब्बे उपलब्ध करायेंगे। सुन लीजिए । अब मैं आपकी बात कर रहा हूँ । अरे थोड़ा रैस्ट ले लीजिए ।

अनारक्षित सेवेंड क्लास सवारी डिब्बों में गद्देदार कुशन सीटों का प्रावधान

महोदय, मैं अनारक्षित सेवेंड क्लास वे डिब्बों में यात्रा करने वालों की तकलीफ एवं कठिनाइयों से भली-भांत वाकिफ हूँ। वर्तमान में ज्यादातर मेल-एक्सप्रेस एवं साधारण पैसेंजर गाड़ियों वे अनारक्षित सेवेंड क्लास सवारी डिब्बों में बिना कुशन की लकड़ी की पट्टी वाली सीटें लगाई जाती हैं। इससे यात्रियों को बैठने में असुविधा होती है। अत: हमने निर्णय लिया है क 2007-08 वे दौरान से लकड़ी की पट्टी वाली सीटों का उत्पादन बंद कर दिया जाए। भविष्य में अनारक्षित सेवेंड क्लास डिब्बों वे लिए भी स्लीपर कोच की तरह गद्देदार कुशन वाली सीटों का ही उत्पादन किया जाएगा। ऑल ओवर इंडिया लगा दिया जाएगा। महोदय,

बात मैं कायदे की करता हूँ, देश वे फायदे की करता हूँ।

जिस तरह पेड़ छाया देता है, हर मुसाफिर का ध्यान रखता हूँ॥

साधारण श्रेणी वे अतरित्त डिब्बों की व्यवस्था

साधारण श्रेणी वे डिब्बों की कमी वे कारण आम जनता को भारी भीड़ में यात्रा करना पड़ता है। यह गरीबों का बजट है । इनकी मंशा इसे रोकने की है । मैं शाम ५.०० बजे तक पढूंगा । यह जान लीजिए ।  अत: हमने निर्णय लिया है क इस वर्ष शुरू की जाने वाली प्रत्येक नई रेलगाड़ी में अनारक्षित सेवेंड क्लास वे चार की जगह छ: डिब्बे लगाये जाएंगे। ताकि लोग आराम से बैठ सकें । साथ ही पूर्णतया एसी एवं जनशताब्दी गाड़ियों को छोड़कर चल रही गाड़ियों में भी यथासंभव अनारक्षित सेवेंड क्लास डिब्बों की संख्या बढ़ाने वे प्रयास किये जाएंगे।

वरिष्ठ xÉÉMÉÉÊ®BÉEÉå +ÉÉè® महिलाअों BÉäE लिए ãÉÉä+É® बर्थ BÉäE आरक्षण BÉEÉÒ सुविधा

वरिष्ठ नागरिकों और ज्यादा उम्र की àÉÉÊcãÉÉ+ÉÉå को ऊपर अथवा बीच की बर्थ पर आरक्षण मिलने से काफी असुविधा होती है। अत: हमने निर्णय लिया है क अवेले यात्रा करने वाले वरिष्ठ नागरिकों और 45 वर्ष से अधिक आयु की महिलाअों वे लिए एसी तथा सेवेंड क्लास स्लीपर में पर्याप्त लोअर बर्थ का कोटा रखा जाएगा। ताकि महिलाएं नीचे बैठ सकें ।

विद्यार्िथयों वे लिए रियायत

महोदय, मैंने 2004-05 एवं 2005-06 का बजट प्रस्तुत करते हुए ामश: वेंद्रीय सरकार एवं राज्य सरकार की सेवाअों में चयन वे लिए साक्षात्कार हेतु यात्रा करने वाले बेरोजगारों को द्वितीय श्रेणी वे यात्री किराये में रियायत देने की घोषणा की थी। प्रस्ताव है क अगले वर्ष से वेंद्रीय कर्मचारी चयन आयोग एवं संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित लखित प्रधान परीक्षाअों में भाग लेने वे लिए विद्यार्िथयों को दूसरी श्रेणी वे किराये में पचास प्रतिशत रियायत दी जाएगी।

विकलांग यात्रियों वे लिए विशेष कोच की व्यवस्था

विकलांग यात्रियों की सुविधा वे लिए हमने एसएलआरडी एवं एसआरडी सवारी डिब्बों का निर्माण किया है। इन डिब्बों में विशेष रूप से डिजाइन किये गये कम्पार्टमेंट में चौड़े दरवाजे, कुशन वाली चौड़ी सीटें, सीटों वे बीच अधिक फासला तथा विशेष रूप से नर्िमत शौचालय है जिसका प्रयोग व्हील चेयर वे साथ किया जा सकता है। अब तक हमने ऐसे एक हजार दो सौ पचास डिब्बों का निर्माण कर लिया है और अगले दो वर्षों में सभी मेल और एक्सप्रेस गाड़ियों में ऐसे कोच लगाने की योजना है। विकलांगों के लिए कोच लगाने की योजना है ।

वेंडर्स कोच की व्यवस्था

सब्जी विोता, दूध वाले एवं अन्य खुदरा व्यापारी फल, सब्जी एवं दूध का परिवहन रेल गाड़ियों से करते हैं। पैसेंजर गाड़ियों में इनके लिए अलग से कोच का इंतजाम किया जाएगा । इनवे लिए सवारी गाड़ियों में कोई जगह निर्धारित नहीं होती है जिसवे फलस्वरूप वे दूध वे डिब्बे, टोकरी इत्याद खिड़कियों में लटकाकर ले जाते हैं। ऐसे खंडों में जहाँ आम तौर पर इन वस्तुअों का परिवहन यात्री गाड़ियों से किया जाता है, उनमें चलने वाली यात्री गाड़ियों में वेंडर्स कोच लगाया जाएगा।

ट्रेन इन्क्वायरी कॉल सेंटर की शुरुआत

जून से  ÉʺÉiÉƤɮ 2007 वे दौरान देश वे सभी चारों क्षेत्रों में ट्रेन इन्क्वायरी काल सेंटर काम करना शुरू कर देंगे। यात्री गण 139 टेलीफोन नंबर डायल कर स्थानीय काल दरों पर देश वे किसी भी हिस्से से गाड़ियों वे आगमन एवं प्रस्थान, सीट की उपलब्धता इत्याद वे बारे में जानकारी प्राप्त कर सवेंगे। महोदय, काल सेंटर में एसएमएस एलर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। भविष्य में काल सेंटर से फोन पर रेलवे टिकट, टैक्सी बुविंग, होटल बुविंग जैसी  +ÉxÉäBÉE ºÉÖÉÊ´ÉvÉÉAÆ प्राप्त हो सवेंगी।

टीटीई वे लिए हैन्ड हेल्ड कम्प्यूटर टर्िमनल की व्यवस्था

वर्तमान पीआरएस प्रणाली वे अंतर्गत गाड़ी छूटने से कुछ घंटे पहले रिजवर्ेशन चार्ट निकाला जाता है। प्राय: अनेक यात्री रिजवर्ेशन होने पर भी अपरिहार्य कारणवश यात्रा नहीं कर पाते हैं। फलस्वरूप बहुत सी बर्थ खाली रह जाती हैं। चूंक यह सूचना पीआरएस सिस्टम में फीड नहीं होती है इसलिए ट्रेन में सवार अथवा अगले स्टेशनों पर वेटलिस्टेड यात्रियों को इस बारे में जानकारी नहीं मिल पाती है। अत: हमने आरक्षित डिब्बों में टीटीई को ऐसे हैन्ड हेल्ड कम्प्यूटर टर्िमनल देने की योजना बनाई है। ट्रेन चलने पर टीटीई चेविंग करने वे समय ही कोचवार एवं बर्थवार आरक्षण की अद्यतन स्थित हैण्ड हेल्ड कम्प्यूटर टर्िमनल में फीड कर देगा। यह टर्िमनल सीधा पीआरएस सिस्टम से जुड़ा होगा और इसवे माध्यम से कोच में बर्थ वे आरक्षण की वस्तुस्थित चलती ट्रेन से सीधे पीआरएस प्रणाली में लोड कर दी जायेगी। इस सूचना वे आधार पर खाली बर्थों को पीआरएस प्रणाली द्वारा ट्रेन में सवार एवं आगे वे स्टेशनों पर प्रतीक्षा सूची यात्रियों को आबंटित कर दिया जा सवेगा। अगले वर्ष पायलट प्रोजेक्ट वे तौर पर 4 जोड़ी ट्रेनों पर टीटीई को हैण्ड हेल्ड टर्िमनल उपलब्ध कराये जाएंगे। इनमें नई दिल्ली-अमृतसर, नई दिल्ली-देहरादून तथा नई दिल्ली-अजमेर वे बीच चलने वाली तीन शताब्दी एक्सप्रेस तथा गोल्डन टेम्पल एक्सप्रेस गाड़ियाँ सम्मिलित हैं।

आरक्षित टिकट वितरण

प्रतदिन पाँच लाख से अधिक आरक्षित टिकटें लगभग तेरह सौ आरक्षण कार्यालयों में तीन हजार से अधिक पीआरएस काउंटरों से वितरित की जाती हैं।  अगले दो वर्षों में डी श्रेणी वे सभी स्टेशनों एवं ई श्रेणी वे कुछ स्टेशनों पर पीआरएस की सुविधा पीआरएस काउंटर खोलकर अथवा यूटीएस-कम-पीआरएस काउंटर खोलकर उपलब्ध कराई जाएगी। इसवे अतरित्त पोस्ट ऑफिस एवं डिपेंस कार्यालयों में भी उन्हीं वे द्वारा संचालित पीआरएस काउंटर खोले जाएंगे। इन्टरनेट वे माध्यम से आरक्षित रेल टिकट वितरित करने की योजना लोकप्रिय हुई है। देश वे हर हिस्से में रेलवे आरक्षण आसानी से उपलब्ध कराने वे उद्देश्य से राज्य सरकारों की ई-सेवा, डाकघर, पेट्रोल पंप, बैंकों वे एटीएम इत्याद वे माध्यम से ई-टिकट वितरित किये जाएंगे।

अनारक्षित टिकट वितरण

संप्रत पूरे देश में लगभग 2 हजार 200 कम्प्यूटरीकृत यूटीएस काउंटर हैं। अगले दो वर्षों में ऐसे काउंटरों की संख्या बढ़ाकर 8 हजार कर दी जाएगी। अगले दो वर्षों में बड़े शहरों में 6 हजार आटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीनें लगाई जाएंगी और इन्हें यूटीएस टर्िमनल से जोड़ा जाएगा। लोग स्मार्ट कार्ड अथवा करेंसी वे सिक्कों का उपयोग कर बटन दबाते ही टिकट प्राप्त कर सवेंगे। मुंबई में उपनगरीय यात्रियों वे लिए टिकट वितरण की कूपन प्रणाली लोकप्रिय हुई है। इसे हम कोलकाता तथा चेन्नई में भी शुरू करने का प्रयास करेंगे। इंटरनेट पर एमएसटी नवीकरण करने की योजना को लोकप्रिय बनाने वे लिए हमने यह सुविधा नि:शुल्क उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। अगले वर्ष सेंट्रल रेलवे द्वारा मुंबई में बहुउद्देशीय स्मार्ट कार्ड पर आधारित टिकट वितरण की एक पायलट योजना प्रारंभ की जाएगी। इस योजना वे तहत एक स्मार्ट कार्ड पर ग्राहकों को एमएसटी निर्गत हो जाएंगे और इसी कार्ड पर दैनिक टिकट भी लोड हो जाएंगे। इस कार्ड को शहर में जगह-जगह से खरीदा और रीचार्ज कराया जा सवेगा। टीटीई वे हैण्ड हेल्ड टर्िमनल पर इस कार्ड को रखते ही टिकट और एमएसटी की चेविंग हो जाएगी। पायलट सफल होने पर इसका विस्तार करने पर विचार किया जाएगा।

अगले दो वर्षों में इन सभी उपायों से टिकट काउंटरों पर लगने वाली लंबी लाइनों की समस्या का काफी हद तक समाधान हो जाएगा।

यात्री डिब्बों की क्षमता में बढ़ोत्तरी  

महोदय, इनोवेशन का अर्थ इन्वेंशन अथवा डिस्कवरी नहीं होता। वस्तुत: रोजमर्रा की गतवधियें में नया तरीका अपनाना भी इनोवेशन होता है। हमने वभिन्न श्रेणियों वे यात्री डिब्बों वे नये ले आउट तैयार किये हैं जिनकी क्षमता पूर्व वे डिजाइनों से काफी अधिक है। स्लीपर कोच की क्षमता बढ़कर 72 से 84, एसी चेयरकार की 67 से 102, एसी थ्री की 64 से 81, एसी टू की 46 से 48 और एसी फस्र्ट की 18 से 22 हो जाएगी। मैंने स्वयं रेल कोच पैक्ट्री, कपूरथला जाकर इन नये डिजाइन वे डिब्बों को देखा है। ये डिब्बे यात्रियों वे लिए सुविधाजनक एवं आरामदायक होंगे। अत: हमने यह निर्णय लिया है क वर्ष 2007-08 वे दौरान  नये डिजाइन वे कोच का निर्माण प्रारंभ किया जाएगा।

स्टैंडर्ड कम्पोजीशन वे रेक

यात्री गाड़ियों का स्टैंडर्ड कम्पोजीशन नहीं होने वे कारण अनेक गाड़ियां सवेरे पहुँचकर रात तक खड़ी रहती हैं। डिब्बों का बेहतर उपयोग करने वे उद्देश्य से हमने निर्णय लिया है क स्टैंडर्ड रेक कम्पोजीशन की अधिक से अधिक गाड़ियां बनाई जाएंगी। गत वर्ष हमने यात्री गाड़ियों की रख-®JÉÉ´É पद्धत में परिवर्तन कर 2 हजार 500 किलोमीटर की बीपीसी की बजाय पायलट बेसिस पर 3 हजार 500 किलोमीटर तक की बीपीसी देनी प्रारंभ की थी। वर्ष 2007-08 से इस प्रणाली का और अधिक विस्तार किया जाएगा। इन दोनों निर्णयों वे फलस्वरूप डिब्बों की उपलब्धता में सुधार होगा।

स्टेशनों पर यात्री सुविधायें

महोदय, मैंने गत वर्ष यह घोषणा की थी क अगले दो वर्षों में सभी प्रमुख स्टेशनों वे गेट-अप एवं उपलब्ध सुविधाअों में जनता फर्व महसूस करेगी। इस घोषणा वे तहत हमने प्रत्येक डिवीजन में पाँच रेलवे स्टेशन को मॉडर्न स्टेशन वे रूप में विकसित करने का कार्य शुरू किया था। मुझे सदन को सूचित करते हुए खुशी हो रही है क मार्च 2007 तक ऐसे 225 स्टेशनों पर यह कार्य संपन्न हो जाएगा। इस कार्याम को जारी रखते हुए हम इस वर्ष भी 300 और स्टेशनों को इसी प्रकार विकसित करेंगे।

स्वच्छता वर्ष-2007

महोदय, हमने वर्ष 2006 को मुस्कान वे साथ ग्राहकों की सेवा वर्ष वे रूप में मनाकर स्टेशनों पर यात्री सुविधाअों में सुधार लाने का प्रयास किया है। वर्ष 2007-08 को स्वच्छता वर्ष वे रूप में मनाया जाएगा। इस वर्ष वे दौरान स्टेशन परिसर, यात्री गाड़ियों, रेलवे लाइन, प्रतीक्षालय इत्याद स्थलों पर एक अभियान वे रूप में साफ-सफाई एवं स्वच्छता सुनिश्चित की जाएगी।

रेलवे की नई तस्वीर- ग्यारहवी पंचवषर्ीय योजना

वर्ष 2007-08 में 11वीं पंचवषर्ीय योजना का शुभारंभ हो रहा है। महोदय:

हो इजाजत तो करूं बयां दिल अपना

संजो रखा है मैंने रेल का एक सपना

11वीं पंचवषर्ीय योजना वे अंत तक रेलवे की प्रेट लोडिंग 1 हजार 100 मलियन टन और यात्रियों की संख्या बढ़ाकर 840 करोड़ करने का लक्ष्य प्रस्तावित है। इस अभूतपूर्व प्रगत दर को अमलीजामा पहनाने वे लिए अगले कुछ वर्षों में रेलवे की परिवहन क्षमता का विस्तार कर दोगुना करना, वॉल्यूम गेम खेलकर प्रत इकाई लागत में लगातार कमी लाना और ग्राहकों को विश्वस्तरीय सेवाएं उपलब्ध कराना नितांत जरूरी होगा। इन उद्देश्यों को प्राप्त करने वे लिए हमें निवेश, मूल्य एवं व्यावसायिक नीतियों वे प्रत  ºÉàÉäÉÊBÉEiÉ द्ृष्टिकोण अपनाना होगा। 

निवेश की ऊँची उड़ान

11वीं पंचवषर्ीय योजना में हम पूर्व की योजनाअों की अपेक्षा कई गुना निवेश करेंगे। रेलवे जैसे विशालकाय सिस्टम वे लिए कोई रेडीमेड निवेश नीत नहीं हो सकती। वस्तुत: अल्पकालिक एवं दीर्घकालिक नीत वे सुंदर संयोग से ही ट्रैफिक की बढ़ती हुई माँग से निपटा जा सकता है। कम लागत और उँची रिटर्न वाली योजनाअों में निवेश करने की हमारी अल्पकालिक नीत नेटवर्व की बाधाअों को दूर करने एवं रोलिंग स्टॉक का प्रभावी उपयोग सुनिश्चित करने में काफी उपयोगी सिद्ध हुई है। इसे आगे भी जारी रखा जाएगा। इसवे साथ-साथ मध्यम एवं दीर्घकालीन निवेश रणनीत वे तहत आधुनिकीकरण एवं तकनीकी उन्नयन द्वारा क्षमता का विस्तार करने वे साथ-साथ नेटवर्व एवं रोलिंग स्टॉक का विस्तार कर क्षमता को बढ़ाया जाएगा।

डेडीवेटेड प्रेट कॉरिडोर का निर्माण

पूवर्ी और पश्चिमी डेडीवेटेड प्रेट कॉरिडोर का निर्माण कार्य वर्ष 2007-08 में प्रारंभ किया जाएगा। इनको लगभग तीस हजार करोड़ रुपये की लागत से 11वीं पंचवषर्ीय योजना वे दौरान पूरा किया जाएगा। स्वर्िणम चतुभर्ुज एवं उसवे विकर्ण मार्ग रेल नेटवर्व वे मात्र 16 प्रतिशत हिस्से वे बराबर हैं लेकिन आधे से भी ज्यादा ट्रैफिक इन्हीं मार्गों पर चलता है। चूंक ये मार्ग बुरी तरह संतृप्त हो गये हैं इसलिए हमने पूर्व-पश्चिम, पूर्व-दक्षिण, उत्तर-दक्षिण एवं दक्षिण-दक्षिण कॉरिडोर का निर्माण करने वे लिए प्री फजबलिटी सवर्े कराने वे निदर्ेश दिये हैं। हमारा सपना इन गलियारों का निर्माण इस प्रकार करने का है ताक ये लंबी, भारी और तेज गाड़ियों वे किफायती एवं कुशल ट्रंक रूट वे रूप में विकसित हो सवें। प्रेट कॉरिडोर बन जाने वे बाद अलग-अलग स्पीड वाली यात्री एवं माल गाड़ियों वे एक नेटवर्व पर चलने की समस्या का निदान हो जाएगा और अधिकांश लेवेल ाॉसिंग भी आरओबी में बदल दिये जाएंगे। इन मार्गों पर चलने वाली साधारण पैसेंजर गाड़ियों को यथासंभव मेमू एवं डेमू से बदला जाएगा। इससे यात्री गाड़ियों की स्पीड में वृद्ध होगी।

आमान परिवर्तन

महोदय, अनेक मार्गों पर आधा-अधूरा आमान परिवर्तन होने वे कारण बाकी बची मीटर एवं छोटी लाइनें द्वीप की तरह बन गई हैं। प्रमुख नेटवर्व से अलग-थलग पड़ जाने वे कारण इन लाइनों से रेलवे को सालाना एक प्रतिशत से भी कम प्रेट ट्रैफिक प्राप्त होता है, जबक ये कुल नेटवर्व वे 20 प्रतिशत से अधिक हैं। फलस्वरूप रेलवे को हजारों करोड़ रुपये का सालाना घाटा हो रहा है। यहाँ तक क इन लाइनों पर माल परिवहन भी घाटे का सौदा बन गया है। अत: 11वीं पंचवषर्ीय योजना वे अंत तक अधिकांश मीटर लाइन को बड़ी लाइन में बदलने का कार्य पूरा करने का हम हर संभव प्रयास करेंगे। ऐसी योजनाअों को स्वीकृत एवं ाियान्वयन में प्राथमिकता दी जाएगी, जो व्यस्त नेटवर्व वे वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध करायेंगी, जिनमें उदयपुर-अहमदाबाद, लखनऊ-सीतापुर-पीलीभीत-शाहजहाँपुर, ढासा-जेतलसर, जयपुर-सीकर-चुरु-झुंझनू, रतलाम-खंडवा-अकोला, छिंदवाड़ा-नैनपुर, अहमदाबाद-बोताड़ प्रमुख हैं। ऐसी योजनाअों को प्राथमिकता वे आधार पर स्वीकृत एवं ाियान्वित किया जाएगा, जिनमें कुल लागत का पचास प्रतिशत खर्च राज्य सरकारें वहन करने वे लिए तैयार हैं। आमान परिवर्तन होने से दूरदराज वे इलाकों को देश की मुख्य धारा में जोड़ने में मदद मिलेगी। एक एकीकृत नेटवर्व का हिस्सा बनने से ट्रैफिक में वृद्ध एवं प्रत इकाई लागत में कमी होने से इन मार्गों पर हो रहे घाटे को कम करने में मदद मिलेगी।

हाई स्पीड पैसेंजर कॉरिडोर का निर्माण

महोदय, आज भारत को विश्व में एक उभरती हुई शत्त वे रूप में देखा जा रहा है। अर्थव्यवस्था में हो रहे तेजी से विकास, बढ़ते हुए औद्योगीकरण एवं शहरीकरण और दो शहरों वे बीच यात्री यातायात में हुई अप्रत्याशित वृद्ध वे मद्देनजर हाई स्पीड पैसेंजर कॉरिडोर की असीम संभावनाएं हैं। माननीय प्रधानमंत्री जी ने भी पश्चिमी प्रेट कॉरिडोर का शिलान्यास करते हुए भारतीय रेल द्वारा विश्वस्तरीय पैसेंजर सिस्टम विकसित करने की आशा व्यत्त की थी। अत: हमने तीन सौ से साढे तीन सौ किमी प्रत घंटे की रफ्तार से चलने वाली आधुनिक सिगनलिंग एवं ट्रेन वंट्रोल सिस्टम से लैस देश वे उत्तरी, पश्चिमी, पूवर्ी और दक्षिण क्षेत्रों में एक-एक हाई स्पीड पैसेंजर कॉरिडोर बनाने वे लिए प्री फजबलिटी स्टडी कराने का निर्णय लिया है। ये गाड़ियाँ 600 किमी तक की दूरी दो से तीन घंटे में पूरी कर सवेंगी।  ºÉÉ´ÉÇVÉÉÊxÉBÉE निजी भागीदारी सहित ाियान्वयन वे सभी विकल्पों पर विचार किया जाएगा। आज विश्व मौसम वे बदलते मिजाज को लेकर चिंतित है। ऊर्जा की खपत की द्ृष्ट से किफायती पर्यावरण वे अनुकूल इस प्रणाली वे विकसित होने से इन चिंताअों का कुछ हद तक निराकरण हो सवेगा।

उपनगरीय सेवाएं

उपनगरीय सेवाएं हमारे देश की कमर्िशयल वैपिटल मुंबई की लाइफ लाइन हैं। मुंबई की ट्रेनों में भारी भीड़ को हलका करने वे लिए 11वीं पंचवषर्ीय योजना में हमें इन सेवाअों की क्षमता को बढ़ाना होगा। इस योजना वे दौरान एमयूटीपी पेज-1 को पूरा किया जाएगा।  {ÉÉÄSÉ cVÉÉ® BÉE®Éä½ âó{ɪÉä BÉEÉÒ ãÉÉMÉiÉ {É® {ÉäEVÉ-2 BÉEÉ BÉEɪÉÇ £ÉÉÒ ¶ÉÖ°ô BÉE®xÉä BÉEÉ |ɺiÉÉ´É cè* ãÉMÉ£ÉMÉ 5 cVÉÉ® BÉE®Éä½ âó{ɪÉä BÉEÉÒ AàɪÉÚ]ÉÒ{ÉÉÒ पेज-2 का वित्त पोषण रेलवे, राज्य सरकार एवं बहुपक्षीय वित्तीय संस्थानों से सहयोग प्राप्त कर किया जाएगा। इन दोनों चरणों को योजना वे दौरान पूरा करने की हर संभव कोशिश की जाएगी ताक उपनगरीय गाड़ियों को लंबी दूरी की गाड़ी से पूरी तरह अलग किया जा सवे। इससे इनकी क्षमता में 56 प्रतिशत से अधिक वृद्ध होगी। कोलकाता और चेन्नई उपनगरीय सेवाअों में भी चल रहे कार्यों को प्राथमिकता वे आधार पर पूरा किया जाएगा। 11वीं पंचवषर्ीय योजना वे दौरान चेन्नई, कोलकाता एवं मुंबई में वातानुकूलित श्रेणी सेवा उपनगरीय गाड़ियों में उपलब्ध कराने एवं प्रमुख स्टेशनों पर एस्वेलेटर्स लगाने वे प्रयास किये जाएंगे।

रोलिंग स्टॉक का आधुनिकीकरण एवं क्षमता विस्तार

ट्रैफिक की बढ़ती हुई माँग को पूरा करने वे लिए नेटवर्व वे विस्तार वे साथ-साथ रोलिंग स्टॉक की उपलब्धता में स्टॉक वे प्रभावी उपयोग, तकनीकी उन्नयन एवं आधुनिकीकरण तथा नई उत्पादन इकाइयाँ लगाकर बढ़ोतरी की जाएगी। 11वीं पंचवषर्ीय योजना में पूर्व की योजना से दोगुना से अधिक रोलिंग स्टॉक का उत्पादन किया जाएगा। रेल कोच एवं लोको उत्पादन इकाइयों की क्षमता का विस्तार कर उत्पादन बढ़ाया जाएगा और अधिक अश्व शत्त वाले एवं कम ऊर्जा खपत करने वाले नई तकनीक वे लोको का उत्पादन बढ़ाया जाएगा। इस योजना में मेमू, डेमू एवं ईएमयू कोच का उत्पादन बढ़ाया जाएगा। साथ ही एक-एक नई रेल कोच, डीजल एवं इलेक्टि्रक लोको तथा व्हील पैक्ट्री लगाई जाएगी। इन नई इकाइयों में बनने वाले आधुनिक तकनीक वे लोको लंबी, भारी और हाई एक्सल लोड की गाड़ियाँ चलाने वे लिए उपयुत्त होंगे। नई रेल कोच पैक्ट्री में हाई वैपेसिटी वाले आरामदेह एवं आधुनिक कोच का निर्माण किया जाएगा। इसी प्रकार नये प्रेट कॉरिडोर वे लिए 32 टन एक्सल लोड वे ज्यादा पे-लोड कम टेयरवेट एवं ट्रैक प्रेंडली वाले वैगनों का निर्माण शुरू किया जाएगा।

रेल सेवाअों में आईटी का उपयोग

भारतीय रेल वे हित में आईटी उपयोग की अपार संभावनाअों का दोहन करने वे उद्देश्य से 11वीं पंचवषर्ीय योजना वे दौरान आईटी योजनाअों पर निवेश कई गुना बढ़ाकर कई हजार करोड़ रुपये किया जाएगा। इसका उपयोग माल एवं यात्री व्यवसाय की आमदनी बढ़ाने, ग्राहकों की द्ृष्ट में रेलवे की छव में निखार लाने, आपरेटिंग लागत घटाने, मानव एवं भौतिक संपदा का प्रभावी उपयोग सुनिश्चित करने एवं शीर्ष नेतृत्व को दीर्घकालिक नीतिगत निर्णय लेने की प्रािया में सहयोग हेतु एमआईएस एवं एलआरडीएसएस विकसित करने वे लिए किया जाएगा। आय प्रबंधन वे लिए विशेषकर खाली लौटती गाड़ियों में माल ट्रैफिक आकर्िषत करने एवं खाली पड़ी सीटों को भरने  BÉäE ÉÊãÉA BÉEàÉÉʶÉǪÉãÉ पोर्टल अगले तीन वर्षों में शुरू किया जाएगा। रोलिंग स्टॉक रख-रखाव एवं परीक्षण तथा राजस्व वे बंटवारे संबंधी मॉडयूल सहित एफओआईएस, ाू मैनेजमेंट, वंट्रोल चाटिर्ंंग, सीओआईएस इत्याद सभी साफ्टवेयर्स को एकीकृत कर ाियान्वयन का कार्य कालबद्ध तरीवे से 2010 तक पूरा किया जाएगा। साथ ही ईआरपी पैवेज वर्वशॉप, उत्पादन इकाई एवं चुनिंदा जोनल रेलवे में लागू किये जाएंगे। रेलवे में चल रही पचास से अधिक वेबसाइटों को मिलाकर एक समेकित वेबसाईट, ई-पेमेंट और ई-टेंडरिंग आद सुविधाअों सहित विकसित की जाएगी। रेलवे में चलाये जा रहे आईटी संबंधी सभी कार्यामों वे एकीकरण और आईटी वे प्रत समेकित द्ृष्टिकोण विकसित करने वे लिए आईटी संबंधी सभी कार्यों को ािस वे माध्यम से संचालित किया जाएगा। ािस को एक स्वायत्त एवं सशत्त संगठन वे रूप में विकसित किया जाएगा जिसमें रेलवे की वभिन्न सेवाअों वे अधिकारी पदस्थापित हो सवेंगे। भारत की आईटी वंपनियों ने पूरे विश्व में परचम फहराया है। हम इन वंपनियों को रेलवे वे साथ सार्वजनिक निजी भागीदारी वे तहत रेलवे वे वभिन्न आईटी कार्यामों में भाग लेने वे लिए आमंत्रित करते हैं। 

रेल विद्युतीकरण

विद्युतीकृत रेल नेटवर्व का विस्तार संपूर्ण स्वर्िणम चतुभर्ुज एवं उसवे विकर्णों सहित कश्मीर से कन्याकुमारी एवं गुवाहाटी से अमृतसर तक चारों दिशाअों में 11वीं पंचवषर्ीय योजना वे अंत तक कर दिया जाएगा। तिरूवनन्तपुरम-BÉExªÉÉBÉÖEàÉÉ®ÉÒ, त्रिशूर-MÉÖ®´ÉɪÉÚ®, तिरूचिरापल्ली-àÉnÖ®è, बाराबंकी-गोरखपुर-बरौनी-कटिहार-गुवाहाटी एवं जलंधर से बारामूला का विद्युतीकरण 11वीं पंचवषर्ीय योजना में किया जाएगा। प्रथम चरण में वर्ष 2007-08 में जलंधर से जम्मू, बाराबंकी-MÉÉä®JÉ{ÉÖ®-बरौनी एवं त्रिचरापल्ली-मदुरै का विद्युतीकरण 2007-08 में प्रारंभ करने का प्रस्ताव है। इसी प्रकार पुणे-´ÉÉbÉÒ-MÉÖx]BÉEãÉ खंड वे दोहरीकरण वे साथ विद्युतीकरण एवं दैतारी-बांसपानी, हरिदासपुर-{ÉÉ®ÉuÉÒ{É नई लाइनों का भी विद्युतीकरण भारतीय रेल वे उपाम आर वी एन एल द्वारा आगामी वर्षों में किया जाएगा।

सार्वजनिक निजी भागीदारी योजनाएं

उपरोत्त नेटवर्व एवं क्षमता विस्तार कार्यों वे लिए 10वीं पंचवषर्ीय योजना की तुलना में कई गुना अधिक धनराश की आवश्यकता होगी। कई लाख करोड़ रुपये की इस योजना का वित्त पोषण मुख्य रूप से आंतरिक संसाधन, बाजार ऋण, सार्वजनिक निजी भागीदारी योजनाअों एवं बजटीय सहायता वे माध्यम से किया जाएगा। रेलवे वे वित्तीय कायाकल्प वे मद्देनजर इस योजना का एक बड़ा हिस्सा आंतरिक एवं बजटेतर माध्यमों से वित्त पोषित किया जाएगा। मैं रेलवे वे अंधाधुंध निजीकरण वे खिलाफ हूँ। हमारे लिए पीपीपी न तो कोई मजबूरी है और न ही पैशन। हम निजी क्षेत्र वे साथ भागीदारी अपनी शर्तों पर रेलवे और ग्राहकों वे व्यापक हित में करना चाहते हैं। उदाहरणत: हमने वैटरिंग, पार्सल इत्याद सेवाअों को लीज पर देकर इन सेवाअों पर होने वाले कई हजार करोड़ रुपये वे घाटे को कम कर दिया है। वैगन निवेश योजना, साइडिंग उदारीकरण इत्याद योजनाअों वे माध्यम से हमने निजी निवेश को आकर्िषत कर क्षमता को बढ़ाया है। इसी प्रकार वंटेनर ट्रेन चलाने वे लिए निजी पार्िटयों को लाइसेंस देकर हमने ट्रेन संचालन वे प्रमुख काम को अपने पास रखा है तब भी वैगन की उपलब्धता तथा टर्िमनल वे निर्माण में हजारों करोड़ रुपये का निवेश रेलवे में अगले कुछ वर्षों में होने की संभावना है। उत्त योजनाअों की तरह हम ऐसी अन्य पीपीपी योजनाएं चाहते हैं जिनमें एक और एक मिलकर दो नहीं ग्यारह हो जाएं। इसी उद्देश्य से मेट्रो एवं मिनी मेट्रो स्टेशनों का आधुनिकीकरण एवं उनमें विश्वस्तरीय यात्री सुविधाअों की व्यवस्था, एग्रो रीटेल आउटलेट एवं सप्लाई चेन का विकास, मल्टी मोडल लॉजिस्टिक्स पार्व तथा वेयर हाउस निर्माण, बजट होटल का निर्माण, नेटवर्व एवं उत्पादन क्षमता विस्तार की संभावनाएं सार्वजनिक निजी भागीदारी योजनाअों वे माध्यम से तलाशी जाएंगी। हमने निजी निवेश को आकर्िषत करने वे लिए पीपीपी सेल का गठन किया है जो निवेशकों को भेद-भाव रहित लेवेल प्लेइंग फील्ड उपलब्ध कराने वे लिए नीतिगत ढांचा तैयार करेगी और बैंवेबल कागजात तैयार कर खुली नविदा से साझेदारी अवार्ड करने की प्रािया  ÉÊxÉvÉÉÇÉÊ®iÉ करेगी।

रेल संरक्षा

रेल संरक्षा हमारी सवर्ोच्च प्राथमिकता है। मुझे सदन को यह जानकारी देते हुए प्रसन्नता हो रही है क अब रेलवे में परिसंपत्तियाँ जैसे ही गतायु होती हैं उन्हें तत्काल बदलने वे लिए राश की व्यवस्था कर दी जाती है। महोदय, हमने रेल संरक्षा कार्यों को सवर्ोच्च प्राथमिकता देते हुए डीआरएफ नध में वर्ष 2001-02 में दी गई 2 हजार 1 सौ करोड़ रुपये की राश की तुलना में वर्ष 2007-08 में बढ़ाकर 5 हजार 5 सौ करोड़ रुपये कर दिया है। इसका सीधा असर रेल संरक्षा रिकार्ड पर पड़ा है। सकल यातायात  ´ÉÉìãªÉÚàÉ जो 2001 में 724 मलियन ट्रेन किलोमीटर था वह वर्ष 2005-06 में 825 मलियन ट्रेन किलोमीटर हो गया। इसवे बावजूद वर्ष 2001 में हुई 443 रेल दुर्घटनाअों की तुलना में वर्ष 2006-07 में रेल दुर्घटनाअों की संख्या 200 से भी कम रहने की संभावना है।

रेल संरक्षा नध वे अंतर्गत 17 हजार करोड़ रुपये की लागत से विए जाने वाले गतायु ट्रैक पुल, ट्रैक सरकटिंग एवं रोलिंग स्टॉक वे रिन्यूवल वे अधिकांश कार्य मार्च 2007 तक पूरे कर लिये जाएंगे और  àÉÉSÉÇ 2008 iÉBÉE ºÉ£ÉÉÒ ãÉÆÉʤÉiÉ कार्यों को पूरा कर लिया जाएगा। महोदय, कापर्ोरेट संरक्षा प्लान वे मुताबिक एन्टी कोलिजन डिवाइस का परीक्षण भी पूवर्ोत्तर सीमांत रेलवे में अंतिम चरण में है और मार्च 2007 तक इसको पूरा कर लिये जाने की संभावना है। इसवे अतरित्त समपार पर होने वाली दुर्घटनाअों में कमी लाने वे लिए जोनल रेलवे वे महाप्रबंधकों को मानव रहित समपार पर भूमिगत पैदल पार पथों वे निर्माण वे लिए पचास लाख रुपये तक वे कार्य स्वीकृत करने वे अधिकार दे दिये गये हैं। बेहतर ौशवदर्ी डिब्बों का निर्माण शुरू हो गया है। भविष्य में यात्रियों की संरक्षा सुनिश्चित करने वे लिए ऐसे डिब्बों की संख्या और बढ़ाई जाएगी।

रेलवे ºÉÖ®FÉÉ

गत सप्ताह 18 फरवरी को पानीपत वे निकट गाड़ी संख्या 4001 दिल्ली-+É]É®ÉÒ लिंक एक्सप्रेस एवं जुलाई 2006 में मुंबई उपनगरीय रेल सेवा वे अंतर्गत हुए गंभीर बम धमाकों वे मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत और आधुनिक बनाने वे लिए अनेक कदम उठाए हैं। रेल सुरक्षा कार्यों वे लिए आवश्यक उपकरण एवं अन्य साधन उपलब्ध कराने वे लिए धनराश यात्री सुविधा एवं मशीन एवं प्लांट योजना शीर्ष से आवश्यकतानुसार उपलब्ध कराई जा रही है। इन कार्यों वे लिए आबंटन में पर्याप्त वृद्ध की जाएगी एवं मैं सदन को आश्वस्त करना चाहता हूँ क इन कार्यों वे लिए धनराश की कमी नहीं होने दी जाएगी। मौजूदा डॉग स्क्वॉड वे प्रत्येक दस्ते में प्रशक्षित डॉग की संख्या बढ़ाने वे अलावा देश में बहुत से संवेदनशील मंडलों में रेलगाड़ियों और रेलयात्रियों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करने वे लिए विस्फोटकों का पता लगाने वाली मशीन, डोर-प्रेम तथा हैंण्डहेल्ड मेटल डिटेक्टरों को लगाया जा रहा है। इसवे अलावा सभी संवेदनशील स्टेशनों पर सीसीटीवी और स्मार्ट वीडियो वैमरे जैसे उपकरण लगाये गये हैं। सुरक्षा विशेषज्ञों से सलाह लेकर मुंबई उपनगरीय सेवा वे लिए उच्चकोट वे सुरक्षा उपकरणों से सुसज्जित एक समेकित एवं विस्तृत सुरक्षा निगरानी प्रणाली विकसित की जाएगी। रेलवे सुरक्षा बल प्रतदिन 1 हजार 450 से अधिक ट्रेनों को एस्कोर्ट कर रहा है। रेलवे सुरक्षा विशेष बल में लगभग आठ हजार रित्त पदों को अखिल भारतीय स्तर पर जल्द ही भर लिया जाएगा। आरपीएफ की व्यावसायिक दक्षता एवं कार्यकुशलता को बढ़ाने वे लिए उन्हें गहन प्रशिक्षण दिया जा रहा है। हाल ही में लखनऊ स्थित जगजीवन राम रेलवे सुरक्षा बल अकादमी को वेन्द्रीकृत प्रशिक्षण संस्थान का दर्जा दिया गया है।

खेलकूद BÉäE क्षेत्र àÉå रेलवे BÉEÉÒ उपलब्ध्यां

सदैव की भांत इस वर्ष भी रेलवे ने खेलों में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ दर्ज की हैं। मेलबोर्न में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय रेल वे खिलाड़ियों ने 2 स्वर्ण व 6 रजत पदक प्राप्त करने में योगदान दिया। हाल ही में दोहा में आयोजित एशियाई खेलों में भारतीय रेल वे खिलाड़ियों ने 2 स्वर्ण, 2 रजत एवं 9 कांस्य पदक भारत वे लिए प्राप्त करने में अहम योगदान दिया। वर्ष 2006-07 में अभी तक भारतीय रेलवे की टीमों ने 33 प्रतियोगिताअों में भाग लिया और उनमें से 19 प्रतियोगिताअों में चैंपियनशिप जीती है। पूर्व राष्ट्रीय बैडमिंटन चैम्पियन सुश्री मधुमिता विष्ट को खेल वे क्षेत्र में वशिष्ट योगदान वे लिए पदम-श्री तथा भारतीय रेल वे 3 खिलाड़ी सुश्री डोला बनजर्ी को तीरंदाजी, श्री अखिल कुमार को बॉक्सिंग तथा सुशील कुमार को कुश्ती वे लिए अजर्ुन पुरस्कार से अलंकृत किया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय सहयोग

भारतीय रेल ने आपसी सहयोग बढ़ाने वे लिए इटली, जर्मनी, रूस और दक्षिण अफ्रीका की रेलों वे साथ सहमत ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं। भारतीय रेल सरकार की लुक ईस्ट पॉलिसी को प्रोत्साहन देने में अहम भूमिका निभा रही है। बिम्स्टेक और मीकांग गंगा देशों वे रेल अधिकारियों को भारतीय रेलवे द्वारा प्रशक्षित करने वे कार्याम की काफी सराहना हुई है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए भारतीय रेल ने अफ्रीकी रेलकर्िमयों वे लिए चालू वित्त वर्ष से नि:शुल्क प्रशिक्षण का प्रावधान किया है। अध्यक्ष, रेलवे बोर्ड एशियन रेलवे एसोसियेशन वे प्रथम चेयरमैन चुने गये हैं। भारतीय रेल रेलों वे अंतर्राष्ट्रीय संगठन यूआईसी वे कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। अध्यक्ष, रेलवे बोर्ड यूआईसी वे पहले गैर यूरोपियन अध्यक्ष भी चुने गये हैं।

कर्मचारी कल्याण

महोदय, चौदह लाख कर्मचारियों ने बेमिसाल जज्मबे और प्रतिबद्धता का परिचय देते हुए रेलवे का वित्तीय कायाकल्प किया है। हमने भी रेलकर्िमयों को 59 दिन की बजाय 65 दिन वे वेतन वे बराबर बोनस भुगतान कर उनका मनोबल बढ़ाया है:

जिसने पहुँचाया बुलंदी पर उसे सम्मान दें।

कड़ी मेहनत को उनकी मिलकर मान दें॥

स्टॉफ बेनीफिट पंड में रेलवे वे अंशदान को प्रत व्यत्त 30 रुपए से बढ़ाकर 35 रुपये वार्िषक करने का प्रस्ताव है। इस अतरित्त अंशदान में से तीन रुपये  प्राकृतिक आपदाअों वे संकट में  तत्काल राहत प्रदान करने वे लिए एवं दो रुपये रेल कर्मचारियों वे शारीरिक द्ृष्ट से विकलांग बच्चों विशेष कर बालिकाअों को शिक्षा प्रदान करने और कामकाजी  हुनर सिखाने वे लिए किया जाएगा।* ये लोग सुनना नहीं चाहते हैं…… (व्यवधान)

स्टाफ कालोनियों की स्थित में आमूलचूल सुधार लाने वे लिए इनवे विकास और रख-®JÉÉ´É वे लिए इरवो वे माध्यम से रख-रखाव सहित सार्वजनिक भागीदारी अथवा सार्वजनिक निजी भागीदारी वे सभी विकल्पों पर विचार किया जाएगा। इस विषय पर आवश्यक निर्णय आम सहमत बनाकर एवं कर्मचारी पेडरेशन को विश्वास में लेकर विए जाएंगे। महानगरों में अवस्थित बड़े अस्पतालों में भतर्ी मरीजों वे रिश्तेदारों को ठहरने की व्यवस्था करने वे उद्देश्य से चारों बड़े शहरों अर्थात दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में अस्पतालों वे निकट 50 कमरे का रेस्ट हाउस बनाये जाएंगे। इनमें रेलकर्िमयों को मामूली चार्ज पर रूम उपलब्ध कराया जाएगा।

ग्राहकों वे लगातार संपर्व में रहने वाले चयनित स्टेशनों वे अग्रिम पंत्त वे कर्मचारियों में बाजार एवं ग्राहक उन्मुख रवैया विकसित करने वे लिए एक व्यापक प्रशिक्षण कार्याम चलाया जाएगा। सफल होने पर इस कार्याम को पूरे देश में लागू किया जाएगा।

ग्रुप डी  वे कर्मचारियों वे प्रमोशन की संभावनाअों में सुधार लाने वे लिए एक समत बनाई गई है जो सभी संबंधित विषयों का गहन अध्ययन कर 6 माह वे अंदर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। हमने निर्णय लिया है क रेल में भतर्ी होने वाले पूर्व सैनिक और वेंद्रीय कर्मचारियों की पूर्व की सेवा अवध का आधा सेवा काल  रेल वे पूरे सेवा काल में जोड़कर उन्हें पास की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

 

* Not recorded

 

संगठनात्मक एवं मानव संसाधन विकास

आने वाले समय में प्रतियोगी बाजार की जटिल परिस्थितियों से निपटने एवं ग्राहकों की बढ़ती आकांक्षाअों को पूरा करने वे लिए रेलवे को एक मजबूत मैनेजमेंट टीम विकसित करनी होगी। एक ऐसी टीम जिसमें खिलाड़ी सिर्प अपने लिए नहीं बल्क टीम की सफलता वे लिए खेले। इस विषय पर अभी तक गठित वभिन्न विशेषज्ञ दल वे प्रतिवेदनों को ध्यान में रखकर एवं सभी सेवाअों वे प्रतनधियों को विश्वास में लेकर और आम सहमत बनाकर दिसंबर 2007 वे अंत तक समुचित निर्णय लिये जाएंगे। डीआरएम को बिजनेस यूनिट, सीएओ (निर्माण) को प्रोजेक्ट यूनिट और जीएम की संस्था को प्रॉफिट सेंटर वे रूप में विकसित करने वे लिए अधिकार संपन्न बनाया जाएगा।

महोदय, आर्िथक एवं प्रतियोगी परिवेश में तेजी से हो रहे परिवर्तनों वे आलोक में रेलकर्िमयों एवं पदाधिकारियों का नियमित अंतराल पर प्रशिक्षण जरूरी है। अत: हमने निर्णय लिया है क रेल पदाधिकारियों को पाँच साल वे अंतराल पर कम से कम एक बार देश वे नामी गिरामी संस्थानों में और अधिकतम दस साल वे अंतराल पर विदेश में प्रशिक्षण वे लिए भेजा जाएगा। जेए, एसए और एचए ग्रेड में पदोन्नत से पूर्व निर्धारित प्रशिक्षण कार्याम में भाग लेना अनिवार्य होगा।

प्रसिद्ध वास्तुकारों की सहायता से रेलवे स्टॉफ कॉलेज बड़ौदा की इमारत का नवीकरण इस प्रकार किया जाएगा ताक इसकी पुरानी शान तथा भव्यता को बनाये रखते हुए इसे सभी आधुनिक सुविधाअों से लैस किया जा सवे। रेल भवन को भी पूर्णत: वातानुकूलित कर सभी आधुनिक सुविधाअों से सुसज्जित किया जाएगा।

आईआईएम अहमदाबाद में रेलवे की चेयर की स्थापना

रेलवे की मूल संरचना एवं प्रबंधकीय कार्यों में अनुसंधान को बढ़ावा देने वे लिए हमने आईआईएम अहमदाबाद में एक चेयर स्थापित करने का निर्णय लिया है।

अनुसूचित जात-जनजात भतर्ी अभियान

एक विशेष अभियान चलाकर अनुसूचित जात एवं जनजात की रत्तियों में से 95 प्रतिशत रत्तियों को भर लिया गया है।  इसी प्रकार पदोन्नत वे कोटा में रत्तियों को भरने वे ाम में हमने 75% से ज्यादा बैकलाग समाप्त करने में सफलता प्राप्त कर ली है।

पिछड़ी जात वे उम्मीदवारों की भतर्ी

सभी जोनल रेलवे में पिछड़ी जातियों वे उम्मीदवारों की भतर्ी वे लिए निर्धारित 27 प्रतिशत आरक्षण कोटा वे विरूद्ध भतर्ी की कार्रवाई की जा रही है।

सार्वजनिक क्षेत्र वे उपाम 

वर्ष 2005-06 वे दौरान रेलवे वे 9 सार्वजनिक उपामों ने अच्छी उपलब्ध हासिल करते हुए कुल 7 हजार 34 करोड़ रुपए की आमदनी दर्ज की है और 818 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया है। इनवे द्वारा वर्ष 2005-06 वे दौरान 274 करोड़ रुपए वे लाभांश का भुगतान रेलवे को किया गया है। वंटेनर कॉरपोरेशन वंपनी ल. ने 2 हजार 489 करोड़ रुपए वे कारोबार से 526 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्िजत किया है। आईआरएफसी द्वारा 2 हजार 20 करोड़ रुपये की आय एवं 334 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया है। इरकॉन इंटरनेशनल लमिटेड ने 2005-06 वे दौरान अब तक का सर्वाधिक 1 हजार 113 करोड़ रुपए का कारोबार एवं 81 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया है। इस वंपनी वे बेहतर कार्य निष्पादन को देखते हुए इसे शिडयूल “ए” का दर्जा दिया गया है। राइट्स ने  वर्ष 2005-06 में 426 करोड़ रुपए वे कारोबार से 99 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया।

आरवीएनएल

सघन ट्रैफिक रेल मार्गों पर क्षमता विस्तार करने वे लिए आरवीएनएल लगभग बारह हजार करोड़ रुपये की लागत पर 46 परियोजनाअों का ाियान्वयन कर रहा है। 2006-07 वे अंत तक ली गई 14 योजनाएं पूरी हो जाएंगी। वर्ष 2007-08 में 544 किलोमीटर बड़ी लाइन का कार्य पूरा हो जाएगा। शेष 24 योजनाअों में से 16 योजनाएं 2008-09 में एवं शेष 2009-10 में पूरी हो जाएंगी। आरवीएनएल को पूर्व में ली गई योजनाअों वे अतरित्त नई परियोजनाएं ाियान्वयन वे लिए सौंपी  VÉÉAÆMÉÉÒ* वर्तमान पद्धत वे अनुसार सार्वजनिक निजी भागीदारी की नेटवर्व वे विस्तार से संबंधित योजनाएं एमओयू वे आधार पर एसपीवी गठित कर ाियान्वित की जाती हैं।

MR. SPEAKER: What are you doing? Do not take the House to a ridiculous level.  Please go back to your seats.

……..(interruptions)

श्री लालू प्रसाद: हमने निर्णय लिया है क भविष्य में सार्वजनिक निजी भागीदारी योजनाअों को खुली नविदा द्वारा अवार्ड करने सहित वभिन्न विकल्पों पर विचार किया जाएगा। ऐसी परियोजनाएं जो किसी बंदरगाह अथवा पैक्ट्री विशेष वे लिए जरूरी हैं उनमें निर्धारित कन्सेशन अवध वे बजाय कन्सेशन अवध इस प्रकार निर्धारित की जाएगी क एसपीवी को अपने निवेश पर एक उचित रिटर्न मिल सवे। 

यात्री सेवाएं

हम प्रतदिन नौ हजार से अधिक यात्री गाड़ियाँ चलाते हैं। यात्रियों की बढ़ती हुई मांग को देखते हुए मैं वर्ष 2007-2008 में निम्नलखित सेवाएं उपलब्ध कराने का प्रस्ताव करता हूँ :-

नई गाड़ियां :

1. श्री छत्रपत साहू महाराज टर्िमनस, कोल्हापुर- अहमदाबाद एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

2.      cÉ´É½É – रामपुरहाट एक्सप्रेस (प्रतदिन)

3.      ZÉÉƺÉÉÒ-कानपुर एक्सप्रेस (प्रतदिन)

4. पुणे – गोरखपुर एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

5.      ÉÊnããÉÉÒ – शामली डेमू (प्रतदिन)

6.      ¤ÉÉ{ÉÚvÉÉàÉ मोतिहारी- बनारस एक्सप्रेस (सप्ताह में तीन दिन)

7.      ¤ÉÉÒBÉEÉxÉä® – जैसलमेर  एक्सप्रेस वाया कोलायत (प्रतदिन दो जोड़ी )

8.      àÉÖƤÉ<Ç – औरंगाबाद जनशताब्दी एक्सप्रेस (सप्ताह में 6 दिन)

9.      £ÉÉMÉãÉ{ÉÖ® – नई दिल्ली एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

10.    ¤ÉÉÒVÉÉ{ÉÖ® – बागलकोट एक्सप्रेस  (ºÉ{iÉÉc में 6 दिन)

11.    <ãÉÉcɤÉÉn – मथुरा एक्सप्रेस (प्रतदिन)

12.    xÉÉÉʺÉBÉE – पुणे एक्सप्रेस (प्रतदिन)

13.    BÉEÉäªÉà¤É]Ú® – नागरकोइल एक्सप्रेस वाया मदुरै (प्रतदिन)

14.    £ÉÖ´ÉxÉä·É® – रामेश्वरम एक्सप्रेस (साप्ताहिक) (आमान परिवर्तन वे बाद)

15.    MÉÉä®JÉ{ÉÖ® – यशवंतपुर एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

16.    ªÉ¶É´ÉÆiÉ{ÉÖ® – चेन्नै एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

17. फर्रूखाबाद – कासगंज एक्सप्रेस (प्रतदिन दो जोड़ी )

(आमान परिवर्तन वे बाद)

18.    <ÆnÉè® – अमृतसर एक्सप्रेस (साप्ताहिक)

19.    SÉèzÉè एग्मोर – नागोर एक्सप्रेस (प्रतदिन) (आमान परिवर्तन वे बाद)

20.    ®ÉÒ´ÉÉ – जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस (प्रतदिन)

21.    xÉ<Ç दिल्ली – साहिबाबाद ईएमयू  (|ÉÉÊiÉÉÊnxÉ)

22.    ¤ÉÉÆBÉEÉ – भागलपुर पैसेंजर (सप्ताह में 6 दिन)

23. चैन्नै एग्मोर – रामेश्वरम एक्सप्रेस (सप्ताह में 6 दिन)

(आमान परिवर्तन वे बाद)

24. छपरा – छत्रपत शिवाजी टर्िमनस (मुंबई) जनसाधारण एक्सप्रेस वाया सीवान, गोरखपुर (साप्ताहिक)

25. मुंबई – अजमेर व उदयपुर एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन)

(आमान परिवर्तन वे बाद)

26.    ºÉÉäãÉÉ{ÉÖ® – बागलकोट एक्सप्रेस (सप्ताह में 6 दिन)

27.    +ÉVÉàÉä® – रतलाम एक्सप्रेस  (|ÉÉÊiÉÉÊnxÉ दो जोड़ी ) (आमान परिवर्तन वे बाद)

28.    ´É½Éän®É – भीलाड एक्सप्रेस (प्रतदिन)

29.    {É]xÉÉ – डेहरी ऑन सोन इंटरसिटी एक्सप्रेस (प्रतदिन)

30.    MÉÉÆvÉÉÒvÉÉàÉ – पालनपुर एक्सप्रेस (प्रतदिन)

31. लखनऊ जंक्शन-सहारनपुर एक्सप्रेस (प्रतदिन) (लखनऊ-सहारनपुर लिंक एक्सप्रेस वे बदले)

32. जबलपुर-ÉÊnããÉÉÒ वाया इटारसी (सप्ताह में दो दिन)

 

MR. SPEAKER: What is happening here?  Sit down please.  I request all of you to please go to your seats.

……..(interruptions)

 

श्री लालू प्रसाद:

गरीब रथ

गत ´É­ÉÇ MÉ®ÉÒ¤É ®lÉ SÉãÉÉxÉä BÉEÉÒ PÉÉä­ÉhÉÉ करते समय मैंने कहा था क आने वाले वर्षों में सभी राज्यों की राजधानियों को गरीब रथ वे माध्यम से जोड़ा जाएगा।  <ºÉÉÒ #ÉEàÉ àÉå àÉé ÉÊxÉàxÉÉÆÉÊBÉEiÉ नई गरीब रथ सेवाएं प्रारंभ करने का प्रस्ताव करता हू:

1.      ÉʺÉBÉExn®É¤ÉÉn – यशवंतपुर गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन)

2. जयपुर – बांद्रा टर्िमनस वाया अहमदाबाद गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन)

3. कोलकाता – पटना गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन)

4.      £ÉÖ´ÉxÉä·É® – रांची गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन)

5. तिरुवनंतपुरम – लोकमान्य तिलक टर्िमनस गरीब रथ एक्सप्रेस

(सप्ताह में 2 दिन)

6.      BÉEÉäãÉBÉEÉiÉÉ – गुवाहाटी गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 2 दिन)

7.      xÉ<Ç दिल्ली – देहरादून गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन)

8.      ®ÉªÉ{ÉÖ® – लखनऊ जंक्शन गरीब रथ एक्सप्रेस (सप्ताह में 2 दिन)

गाड़ियों का विस्तार

मुझे निम्नलखित सेवाअों वे मार्ग विस्तार की घोषणा करने में अत्यंत प्रसन्नता हो रही है :

1.

4517/4518 इलाहाबाद-अम्बाला वैंट >óÄSÉÉcÉ® ABÉDºÉ|ÉäºÉ SÉÆbÉÒMɸ iÉBÉE

2.

207/208 तिरूपत-गुंटकल पैंसेंजर हुबली तक

3.

2315/2316 सियालदाह-अजमेर अनन्य एक्सप्रेस उदयपुर तक

4.

2105/2106 मुंबई-नागपुर विदर्भ एक्सप्रेस गोंदिया तक

5.

1103/1104 आगरा वैंट-निजामुद्दीन इंटरसिटी एक्सप्रेस नई दिल्ली तक

6.

9165/9166 अहमदाबाद-पैजाबाद साबरमती एक्सप्रेस वाराणसी तक

7.

4649/4650 अमृतसर-दरभंगा सरयू यमुना एक्सप्रेस जयनगर तक

(+ÉÉàÉÉxÉ {ÉÉÊ®´ÉiÉÇxÉ BÉäE बाद)

 

8.

2705/2706 सिकन्दराबाद-विजयवाड़ा एक्सप्रेस गुंटूर तक

9.

शिकोहाबाद-फर्रूखाबाद पैसेंजर कासगंज तक (आमान परिवर्तन वे बाद)

10.

3185/3186 सियालदाह-दरभंगा गंगासागर एक्सप्रेस जयनगर तक (आमान परिवर्तन वे बाद)

11.

364 कोट्टायम-तिरूवनंतपुरम पैसेंजर नागरकोइल तक

12.

571/572 मंडुवाडीह-मऊ पैंसेजर आजमगढ़ तक

13.

209/210 हावड़ा-दरभंगा पैसेंजर जयनगर तक (आमान परिवर्तन वे बाद)

14.

5037/5038 कानपुर-फर्रूखाबाद एक्सप्रेस कासगंज तक

(+ÉÉàÉÉxÉ परिवर्तन वे बाद)

15.

6509/6510 अजमेर-बैंगलोर एक्सप्रेस मैसूर तक

16.

4673/4674 अमृतसर-दरभंगा शहीद ABÉDºÉ|ÉäºÉ VɪÉxÉMÉ® iÉBÉE

(+ÉÉàÉÉxÉ {ÉÉÊ®´ÉiÉÇxÉ BÉäE बाद)

 

17.

531A/532ए परली-लाटूर पैसेंजर उस्मानाबाद तक

(+ÉÉàÉÉxÉ परिवर्तन वे बाद)

18.

2413/2414 जम्मूतवी-जयपुर एक्सप्रेस अजमेर तक

19.

5107/5108 लखनऊ-कानपुर उत्सर्ग एक्सप्रेस कानपुर अनवरगंज तक

20.

469/470 लखनऊ-फर्रूखाबाद पैसेंजर कासगंज तक

(+ÉÉàÉÉxÉ परिवर्तन वे बाद)

21.

5309/5310 ऐशबाग-बरेली रोहिलखंड एक्सप्रेस कासगंज तक

22.

2465/2466 जोधपुर-सवाईमाधोपुर एक्सप्रेस इंदौर तक

23

गया-किऊल पैसेंजर झाझा तक (1 जोड़ी )

 

पेरों में वृद्ध

माननीय संसद सदस्य यह जानकर प्रसन्न होंगे क निम्नलखित गाड़ियों वे पेरों में वृद्ध करने का प्रस्ताव है:-

 

1.

9311/9312 इंदौर – पुणे एक्सप्रेस (सप्ताह में 2 दिन से बढ़ाकर 3 दिन)

2.

1561/1562 मिरज-बेलगाम पैसेंजर (सप्ताह में 6 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

3.

2149/2150 पुणे – पटना एक्सप्रेस (सप्ताह में 2 दिन से बढ़ाकर 4 दिन)

4.

2843/2844 पुरी-अहमदाबाद एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन से बढ़ाकर 4 दिन)

5.

2345/2346 हावड़ा-गुवाहाटी सरायघाट एक्सप्रेस (सप्ताह में 5 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

6.

1563/1564 मिरज-बेलगाम पैसेंजर (सप्ताह में 6 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

7.

2309/2310 नई दिल्ली – पटना राजधानी एक्सप्रेस

(ºÉ{iÉÉc में 2 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

 

8.

6603/6604 तिरूवनंतपुरम-मंगलौर एक्सप्रेस (सप्ताह में 3 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

9.

2835/2836 हटिया-यशवंतपुर एक्सप्रेस (सप्ताह में 1 दिन से बढ़ाकर 2 दिन)

10.

209/210 मछलीपत्तनम-तिरूपत पैसेंजर (सप्ताह में 3 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

11.

6595/6596 पटना – बैंगलोर एक्सप्रेस (सप्ताह में 2 दिन से बढ़ाकर 6 दिन)

12.

2419/2420 नई दिल्ली-लखनऊ गोमती एक्सप्रेस (सप्ताह में 6 दिन से बढ़ाकर प्रतदिन)

13.

6527/6528 यशवंतपुर-कन्नूर एक्सप्रेस (सप्ताह में 1 दिन से बढ़ाकर 3 दिन)

14.

6315/6316 बैंगलोर-कोचूवेली एक्सप्रेस (सप्ताह में 1 दिन से बढ़ाकर 3 दिन)

वार्िषक योजना 2007-08

महोदय, वर्ष 2007-08 वे लिए वार्िषक योजना परिव्यय 31 हजार करोड़ रुपए प्रस्तावित है।  यह अब तक की सबसे बड़ी वार्िषक योजना है और चालू वर्ष वे योजना परिव्यय से 32% अधिक है। पिछले तीन वर्षों में रेलवे वे वार्िषक योजना परिव्यय में लगभग ढाई गुनी वृद्ध हुई है। इससे भी अधिक गौरव का विषय यह है क कुल परिव्यय का तीन चौथाई भाग आंतरिक एवं बजटेतर संसाधनों से एवं 56 प्रतिशत हिस्सा मात्र आंतरिक संसाधनों से जुटाया जाएगा। 17 हजार 323 करोड़ रुपए की व्यवस्था आंतरिक संसाधनों से की जाएगी जो क गत वर्ष की तुलना में 61% अधिक है। बजटेतर संसाधनों वे जरिए 5 हजार करोड़ रुपए आईआरएफसी वे माध्यम से रोलिंग स्टॉक लीज पर लेकर, 240 करोड़ रुपए आरवीएनएल द्वारा ऋण लेकर और 500 करोड़ रुपए वैगन इनवेस्टमेंट स्कीम वे जरिए जुटाए जाएंगे। सामान्य राजस्व से प्राप्त की जाने वाली कुल राश 7 हजार 611 करोड़ रुपए में रेल संरक्षा विशेष नध वे लिए 1 हजार 165 करोड़ रुपए, वेंद्रीय सड़क नध से 725 करोड़ रुपए और शेष योजनाअों वे लिए 5 हजार 721 करोड़ रुपए शामिल हैं।

*       ªÉÉäVÉxÉÉ का मुख्य उद्देश्य ट्रैफिक की उच्चतर वृद्ध दर को बनाए रखने वे लिए उच्च ट्रैफिक घनत्व वाले मार्गों पर थ्रूपुट संवर्धन, ट्रैफिक पैसलिटी, नेटवर्व वे विकास एवं विस्तार संबंधी कार्यों को शीघ्र पूरा करना है। इस वर्ष यातायात सुविधा योजना शीर्ष में 30% की बढ़ोतरी कर परिव्यय 800 करोड़ रुपए कर दिया गया है। मालडिब्बों वे बेहतर संचलन और बेहतर टर्न राउंड वे मार्ग में आने वाली बाधाअों को दूर करने, गुड्स शेड उन्नयन एवं विकास, फ्लाई ओवर/बाईपास का निर्माण, आई बी एस इत्याद ट्रैफिक पैसलिटी कार्यों को सवर्ोच्च प्राथमिकता दी गई है।  इस वर्ष दोहरीकरण परियोजनाअों वे ाियान्वयन में तेजी लाने वे उद्देश्य से दो हजार करोड़ रुपए का परिव्यय प्रस्तावित है जो  पिछले वर्ष वे परिव्यय से लगभग दुगना है। इसवे अलावा, आर वी एन एल द्वारा निष्पादित परियोजना पर उनवे द्वारा 1 हजार 358 करोड़ रुपए का खर्च किया जाएगा। डेडीवेटेड प्रेट कॉरिडोर निर्माण वे लिए 1 हजार 330 करोड़ रुपए का आबंटन किया गया है।

चार अन्य मुख्य योजना शीर्षों वे लिए परिव्यय 5 हजार 36 करोड़ रुपए रखा गया है। नई लाइन वे लिए 1 हजार 610 करोड़ रुपए, आमान परिवर्तन वे लिए 2 हजार 404 करोड़ रुपए और विद्युतीकरण वे लिए 300 करोड़ रुपए, महानगर परिवहन परियोजना वे लिए परिव्यय 722 करोड़ रुपए रखा गया है। संरक्षा संबंधी योजना शीर्षों पर परिव्यय में रेलपथ नवीकरण पर 3 हजार 360 करोड़ रुपए, पुल संबंधी कार्यों वे लिए 597 करोड़ रुपए और सिगनल तथा दूरसंचार कार्यों वे लिए 1 हजार 597 करोड़ रुपए, ऊपरी/निचले सड़क पुलों वे निर्माण वे लिए 551 करोड़ रुपए तथा मानव रहित समपारों को मानव युत्त समपार करने वे लिए 500 करोड़ रुपए शामिल हैं। जम्मू और कश्मीर तथा पूवर्ोत्तर सीमा क्षेत्र की राष्ट्रीय परियोजनाअों अर्थात् उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला, जीरीबाम-इम्फाल रोड और कुमारघाट-अगरतला नई लाइन तथा लमडिंग-सिलचर-जीरीबाम आमान परिवर्तन परियोजना वे लिए वित्त मंत्रालय से 2 हजार 725 करोड़ रुपए की अतरित्त धनराश की मांग की गई है।

 

 

 

*……….* This part of the speech was treated as laid on the Table. 

SÉÉãÉÚ परियोजनाएं

 

        SÉÉãÉÚ वर्ष में लगभग दो हजार किलोमीटर बड़ी लाइनों का कार्य पूरा होने की संभावना है। यह रेलवे वे वित्तीय कायाकल्प एवं फील्ड इकाइयों की शत्त वे विवेंद्रीकरण वे कारण ही संभव हो पाया है। रेलवे जम्मू और कश्मीर तथा पूवर्ोत्तर क्षेत्र में चल रही राष्ट्रीय परियोजानाअों का कार्यान्वयन पूरी गंभीरता से कर रही है। कश्मीर घाटी में काकापोर से बडगाम तक नई लाइन का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो गया है और इसे शीघ्र ही यात्री यातायात वे लिए खोल दिया जाएगा। ब्रह्मपुत्र नदी पर बन रहे बोगीबील ब्रिज, रंगिया-मुरकांगसेलक आमान परिवर्तन, अजरा-बरनीहाट और दीमापुर-कोहिमा परियोजनाअों को “राष्ट्रीय परियोजना” घोषित करने वे लिए मैं माननीय प्रधानमंत्री जी वे प्रत अपना आभार व्यत्त करता हूँ। *

 

xÉ<Ç लाइनें

 

        àÉÖZÉä यह उल्लेख करते हुए प्रसन्नता हो रही है क कोलायत से फलोदी, दैतारी-बांसपानी और गांधीनगर-कलोल नई लाइनों का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। पेडापल्ली-करीमनगर-निजामाबाद वे करीमनगर-जगित्याल खंड का कार्य पूरा होने वाला है। 

वर्ष 2007-08 में लगभग 500 किलोमीटर नई लाइन वे  निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। इन खंडों में शामिल हैं :-

1. पुंतम्बा-शिरडी

2.  महोबा-खजुराहो

3.  काजीगुंड-काकापोंर और बडगाम-बारामूला

4. जगयापेट-मल्लाचेरवू

5. कोटटूर-हरपनहल्ली

इन खंडों वे पूरा हो जाने से पुंतम्बा-शिरडी और जगयापेट-मल्लाचेरवू नई लाइन परियोजनाअों का कार्य पूरा हो जाएगा।

 

+ÉÉàÉÉxÉ परिवर्तन

 

        xÉÉÒàÉSÉ-रतलाम, गांधीधाम-पालनपुर वे सामाख्याली-गांधीधाम, मिराज-लातूर का लातूर-उस्मानाबाद, त्रिची-मानमदुरै का  त्रिची-पुड्डूकोटाई, खगड़िया-समस्तीपुर का खगड़िया-हसनपुर, अदिलाबाद-मुदखेड़ का किनवत-मुदखेड़ और शोलापुर-गदग का बसवन्ना बागेवाडी-बगलकोट की आमान परिवर्तन परियोजनाएं पूरी हो गई हैं। इसवे अलावा, अजमेर-चित्तौड़गढ़, त्रिची-मानमदुरै का पुड्डकोटाई-कराईकुडी, कुड्डालोर-सेलम का वृद्धाचलम-सेलम, मानमदुरै-रामेश्वरम, बांकुरा-दामोदर रेलवे लाइन का सोनामुखी-रायनगर और हसनपुर-समस्तीपुर आमान परिवर्तन का कार्य भी शीघ्र पूरा होने की संभावना है।

 

        <xÉ खंडों वे आमान परिवर्तन पूरा होने से नीमच-रतलाम, गांधीधाम-पालनपुर, अजमेर-चित्तौड़गढ-उदयपुर, खगड़िया-समस्तीपुर, अदिलाबाद-मुदखेड़ कुड्डालोर-सेलम और मदुरै-रामेश्वरम  परियोजनाएं पूरी हो जाएंगी। वर्ष 2007-08 वे दौरान, लगभग 1 हजार 800 किलोमीटर आमान परिवर्तन वे निम्न कार्य पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है:

 

1. मिरज-लातूर का उस्मानाबाद-कुरदुवाडी

2. मानसी-सहरसा-पुर्िणया का सहरसा-दौराम मधेपुरा

3. अजमेर-रींगस-रेवाड़ी का फुलेरा-रींगस-रेवाड़ी

4. पीपर ®Éäb-बिलारा

5. जयनगर-दरभंगा-नरकटियागंज का दरभंगा-सीतामढ़ी

6. अकोला-पूर्णा

7. प्रतापनगर-छोटा उदयपुर का प्रतापनगर-बोदेली

8. धर्मावरम-पकाला का पकाला-मदनापल्ली

9. कप्तानगंज-थावे-छपरा का कप्तानगंज-थावे

10. शोलापुर-गडग का बगलकोट-गडग

11. कानपुर-कासगंज-मथुरा का कासगंज-मथुरा

12. कटिहार-जोगबनी

13. गुंटुर-गुंतकल-कलुरु का गुंतकल-कलुरु

14. विल्लूपुरम-काटपाड़ी का वेल्लोर-तिरुवन्नामलाई

15. त्रिची-मानमदुरै का करायकुड़ी-मानमदुरै

16. मेहसाना-पाटन

17. शिमोगा-तालगुप्पा का शिमोगा-आनंदपुरम

       

इन खंडों वे पूरा होने से, त्रिची-मानमदुरै, कटिहार-जोगबनी, अकोला-पूर्णा, शोलापुर-गदग, पीपर रोड-बिलारा, गुंटुर-गुंतकल-कलुरु परियोजनाएं पूरी हो जाएगी। सकरी से निर्मली तथा झंझारपुर-लौकहा बाजार वे आमान परिवर्तन को 2008-09 में पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

nÉäc®ÉÒBÉE®hÉ

 

        ´É­ÉÇ 2006-07 वे दौरान, लगभग 450 किलोमीटर का दोहरीकरण कार्य पूरा होने की संभावना है, जबक वर्ष 2007-08 वे लिए लगभग 700 किलोमीटर तक का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 

 

xÉ<Ç परियोजनाएं

 

        àÉÖZÉä सदन को यह जानकारी देते हुए खुशी हो रही है क  बर्धमान-कटवा, सादुलपुर-बीकानेर और रतनगढ़-डेगाना, मइलादुतुरै-कराइकुडी और तिरूथरमपुंडी-अगस्तयांपल्ली वे आमान परिवर्तन बजट में शामिल विए गए हैं। दाहोद-इंदौर वाया झबुआ एवं देवबंद (मुज्जफरनगर)-रूड़की नई लाइन निर्माण वे कार्य बजट में शामिल विए गए हैं। पेन-रोहा, मऊ-इंदारा, कुकराना-पानीपत, बिमलागढ़-दुमित्रा पार्ट, बाराबंकी-बुढ़वल, न्यू गुवाहाटी-डीगारू, अलवर-हरसोली, सामलकोट-काकीनाडा, कल्मना-नागपुर, बारबील-बडाजामदा, आद्रा-जोएचंदीपहाड, कुरूपनतारा-चिंगावनम, रामानगरम-मैसूर, अमलापुजा-हरीपद, अरसीवेरे-बीरूर, टिटलागढ़-रायपुर, गोकुलपुर-मिदनापुर एवं मालदा और पुराना मालदा वे बीच में महानंदा पुल वे दोहरीकरण कार्यों को स्वीकृत दी गई है। भोजीपुरा-पीलीभीत-टनकपुर आमान परिवर्तन तथा छोटा उदयपुर-धार, बिहटा-औरंगाबाद, रायदुर्ग-तुमकुर, बरियारपुर-मननपुर, चण्डीगढ़-बद्दी एवं सुल्तानगंज-कटोरिया नई लाइनों वे निर्माण की सैद्धांतिक स्वीकृत दी गई है। पुणे-गुंटकल वे बीच बचे हुए दोहरीकरण जिसमें बिगवान-महोल शामिल है, की स्वीकृत की कार्रवाई की जा रही है। वर्धा-नांदेड वाया यवतमाल, पुसद नई लाइन वे निर्माण कार्य पर महाराष्ट्र राज्य सरकार से
साझेदारी की सहमत मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। मसरख-रेवाघाट वाया तरैया-अमनौर, दमोह से वुंडलपुर एवं अररिया-सुपौल नई लाइन निर्माण एवं मुजफ्फरपुर-बेतिया-नरकटियागंज-बाल्मीक नगर वे दोहरीकरण की सवर्े रिपोर्ट प्राप्त कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उपरोत्त कुछ परियोजनाअों वे लिए उत्तराखण्ड, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल की राज्य सरकारों ने कुल लागत का एक हिस्सा वहन करने की सहमत दी है।  आंध्राप्रदेश की राज्य सरकार ने कुड्डप्पा-बैंगलोर नई लाइन का निर्माण आधी-आधी लागत पर साझेदारी वे आधार पर किये जाने का अनुरोध  किया है। ऐसे सभी प्रस्तावों पर उच्च प्राथमिकता वे आधार पर स्वीकृत हेतु अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। मैं सभी राज्य सरकारों से एक बार पुन: अनुरोध करना चाहूँगा क चालू योजनाअों एवं नई योजनाअों वे लिए आधी-आधी लागत पर साझेदारी कर योजनाअों वे निर्माण में हमें सहयोग दें।

 

ºÉ´ÉäÇFÉhÉ

 

        àÉÉxÉxÉÉÒªÉ सदस्यों की माँग पर निम्नलखित सवर्ेक्षण शुरू करने का प्रस्ताव है:

नई लाइनें

१.कराड-ÉÊSÉ{ÉãÉÖxÉ

२.अलीगढ- कासगंज

३.रुपई-{É®¶ÉÖ®ÉàÉBÉÖEhb

४.गुडूर-nÖMÉÉÇ®ÉVÉÉ{ÉiÉxÉàÉ

५.श्री सत्य साई प्रशांत निलयम-BÉEÉÊn®ÉÒ वाया नल्लामाड़ा

६.मोराप्पुर-vÉàÉÉÇ{ÉÖ®ÉÒ

७.मदुरै-BÉE®<ÇBÉÖE½ÉÒ

८.गया-xÉ]äºÉ®

९.नीडमंगलम-{ÉÖqÙBÉEÉä^<Ç

१०.नंजनगुड़-ÉÊxÉãÉÉƤÉÖ®

११.तल्लचेरी-àÉèºÉÚ®

१२.दीन्डीगल-BÉÖEàÉÖãÉÉÒ वाया बोडिनायक्कन्नुर

१३.टुमकुर-nÉ´ÉxÉMÉä®ä

१४.धारवाड़-¤ÉɪÉãÉÉcÉåMÉãÉ-बेलगाम

१५.रतलाम-¤ÉÉƺɴÉɽÉ

१६.मरकापुर-gÉÉÒºÉäãÉàÉ

१७.चकिया-¤É®MÉÉÊxɪÉÉ वाया मधुबनी, पेनहरा, पिपराही

१८.किनवत-àÉcÖ®

आमान परिवर्तन

1. छिंदवाड़ा-xÉèxÉ{ÉÖ®

२.हिम्मतनगर- खेड़ब्रह्मा, आबू रोड तक विस्तार सहित

३.इंदारा-nÉäc®ÉÒPÉÉ]

दोहरीकरण

१. राजखरस्वां- आदित्यपुर तीसरी लाइन

२. संबलपुर-तालचेर

३. मुदखेड़-परभनी

४. सिवंदराबाद-भोंगिर तीसरी लाइन

५. जिरत – कटवा

६. आद्रा-गधर्ूबेश्वर

७. खुर्दा रोड-{ÉÖ®ÉÒ

रेल फ्लाईओवर

१. डोंगापोसी

२. दम दम

३. इटारसी

४. कटनी

मधेपुरा àÉå नए ÉÊ´ÉtÉÖiÉ <ÆVÉxÉ BÉEÉ®JÉÉxÉä BÉEÉÒ स्थापना

रेल यातायात की बढ़ती हुई मांग को पूरा करने हेतु चित्तरंजन रेल कारखाने की उत्पादन क्षमता में 150 से 200 इंजन प्रतिवर्ष की वृद्ध वे बावजूद एक और नया विद्युत इंजन कारखाना स्थापित करना अपरिहार्य है। अत: लगभग 1 हजार 300 करोड़ रु. की लागत से मधेपुरा में एक नया विद्युत इंजन कारखाना लगाया जाएगा। इससे पूवर्ोत्तर क्षेत्र एवं उत्तरी बिहार वे पिछड़े क्षेत्रों वे सवार्ंगीण विकास में मदद मिलेगी।

आधुनिक सिगनलिंग व्यवस्था

ए, बी और सी रूट पर 96% से अधिक स्थानों पर ट्रैक सरकटिंग, ए और सी रूट पर मल्टी एस्पेक्ट कलर लाइट सिगनल प्रणाली एवं विशेष रेल संरक्षा नध से लिए गए अन्य उन्नयन कार्य अब तक 1 हजार 36 स्टेशनों पर पूरे कर लिये गए हैं। इस नध से लिये गए बाकी सभी कार्यों को मार्च, 2008 तक पूरा करने का लक्ष्य है। सिगनल प्रणाली की विश्वसनीयता में गुणात्मक सुधार लाने वे उद्देश्य से 2007-08 वे दौरान एक समेकित योजना तैयार कर ाियान्वित की जाएगी। महोदय, अब तक सिगनलिंग का इस्तेमाल प्रमुख रूप से रेल संरक्षा वे लिए होता रहा है, जबक आधुनिक सिगनल प्रणाली वे द्वारा लाइन क्षमता में सुधार करने की काफी संभावनाएं विद्यमान हैं। अत: हमने निर्णय लिया है क हाई डेन्सिटी नेटवर्व पर आईबीएस प्रणाली का इस्तेमाल कर दो ब्लॉक खंडों की औसत दूरी 12 किलोमीटर से घटाकर 8 किलोमीटर की जाएगी। भारी यातायात वाले कुछ जंक्शन स्टेशनों वे अप्रोच मार्ग पर  ऑटोमेटिक ब्लॉक सिगनल प्रणाली मुहैया कराई जाएगी।

वेरल सरकार वे साथ ज्वाइंट वेंचर

महोदय, तेजी से बढ़ते हुए यात्री व्यवसाय को देखते हुए भविष्य में अतरित्त सवारी डिब्बों की जरूरत होगी। वर्तमान में रेलवे द्वारा आईसीएफ डिजाइन वे सवारी डिब्बे बनाने वे लिए पैब्रीवेटेड बोगी बनाने की क्षमता सीमित है।  इस कमी को  रेलवे वेरल सरकार वे सार्वजनिक उपाम, स्टील इंडस्ट्रीज वेरल ल., एलेप्पी वे साथ एक ज्वाइंट वेंचर का गठन कर पूरा करने का प्रयास करेगी।

डालमिया नगर में वैगन, बोगी, कॉम्प्लेक्स की स्थापना

नये डेडीवेटेड प्रेट कॉरिडोर का निर्माण 32.5 टन एक्सल लोड की मालगाड़ियाँ एवं डबल स्टैक वंटेनर ट्रेन चलाने वे लिए किया जा रहा है। देश में अभी 22.9 टन एक्सल लोड वे ही वैगन बनते हैं। ज्यादा एक्सल लोड वे वैगन बनाने वे लिए नई तकनीक वे बोगी, कपलर एवं ड्राफ्ट गियर वे निर्माण करने वे लिए डालमिया नगर में एक औद्योगिक काम्प्लेक्स का विकास किया जाएगा। इस उद्देश्य की प्राप्त वे लिए सार्वजनिक निजी भागीदारी सहित ाियान्वयन वे सभी विकल्पों पर विचार किया जाएगा।

उपनगरीय सेवाएं –

मुंबई उपनगरीय सेवाअों वे लिए पिछले बजट में की गई घोषणा वे अनुरूप पश्चिम रेल पर तीन अतरित्त रेक बढ़ाए जा चुवे हैं एवं चौथा रेक मार्च 2007 तक उपलब्ध हो जाएगा। मध्य रेल पर एक अतरित्त रेक थाणे-iÉÖ¤ÉäÇ क्षेत्र में बढ़ा दिया गया है एवं एक और रेक मार्च 2007 तक उपलब्ध हो जाएगा।  मुझे सदन को यह सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है क कसारा से टिटवाला खंड का डीसी से एसी में बदलने का कार्य पूरा हो गया है। बोरीविली से विरार वे चौहरीकरण का कार्य जल्दी ही पूरा होने वाला है और एमआरवीसी वे माध्यम से नई रेकों का समायोजन भी जल्दी शुरू होने जा रहा है। समय सारणी में अपेक्षित पेर-¤ÉnãÉ करवे पश्चिम रेल एवं मध्य रेल में इन नई रेकों वे द्वारा इस वर्ष में 150 नई उपनगरीय गाड़ियों को चलाने का प्रस्ताव है। आशा है क इन प्रयासों से रेल सेवाअों में काफी इजाफा होगा।

कोलकाता वे लिए चालू वर्ष में चार अतरित्त ई एम यू रेक प्रदान विए गए हैं जिससे उपनगरीय सेवाएं 1 हजार 39 से बढ़कर 1 हजार 50 हो गई हैं। अगले कुछ महीनों में 5 और रेकों की बढ़ोत्तरी की जाएगी। चेन्नई में चालू वर्ष में पांच अतरित्त ईएमयू रेक दिये गए हैं जिससे उपनगरीय सेवाअों में 30 की वृद्ध वे साथ-साथ 27 रेक 8 डिब्बों से 9 डिब्बों की एवं चार रेक 3 डिब्बों से 6 डिब्बों की कर दी गई है। अगले कुछ महीनों में 6 और रेकों की वृद्ध की जाएगी जिसवे द्वारा एम आर टी एस तथा अन्य सेवाअों की वृद्ध की आवश्यकता पूरी हो जाएगी।

  भाग -II

2007-2008 वे लिए बजट अनुमान.    

महोदय,अब मैं 2007-08 वे ¤ÉVÉ] +ÉxÉÖàÉÉxÉÉå BÉEÉÒ SÉSÉÉÇ BÉE°ôÆMÉÉ*

वर्ष 2007-08 वे दौरान प्रेट लोडिंग का लक्ष्य 785 मलियन टन और प्रेट आउटपुट का 516 बलियन टन किलोमीटर रखा गया है। डबल डजिट प्रगत दर बनाए रखते हुए माल, यात्री एवं अन्य कोचिंग आमदनी वे बजट अनुमान ामश: 46 हजार 943, 20 हजार 75 एवं 2 हजार 200 एवं करोड़ रुपये रखे गये हैं। सकल ट्रैफिक आमदनी 71 हजार 218 करोड़ रुपए रखी गई है जो क चालू वित्तीय वर्ष वे संशोधित अनुमानों से 7 हजार 248 करोड़ रुपये अधिक है।

महोदय, 2007-08 वे लिए साधारण संचालन व्यय 42 हजार 687 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है जो क 2006-07 वे संशोधित अनुमानों की अपेक्षा 12 प्रतिशत अधिक है।  मूल्यह्रस आरक्षित नध में 5 हजार 496 करोड़ रुपए एवं पेंशन नध में 8 हजार 683 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है। इस प्रकार कुल संचालन व्यय 56 हजार 687 करोड़ रुपये होगा जिससे शुद्ध यातायात प्राप्तियाँ 14 हजार 631 करोड़ रुपये होंगी। रेलवे का लाभांश पूर्व वैश सरप्लस 21 हजार 578 करोड़ रुपये और ऑपरेटिंग रेशियो 79.6 प्रतिशत होने की आशा है। आगामी वर्ष वे अंत में पंड बैलेंस 16 हजार 170 करोड़ रुपये वे स्तर पर रहने का अनुमान है। वर्ष 2007-08 वे लिए सामान्य राजकोष को देय लाभांश की दर पर एक ज्ञापन रेल कनवेंशन समत वे विचाराधीन है। 2006-07 वे लिए अनुशंसित लाभांश दर वे आधार पर वर्ष 2007-08 में लाभांश देनदारी 3 हजार 909 करोड़ रुपये बनती है। वर्ष 2007-08 में न वेवल इस देनदारी का अपितु आस्थगित लाभांश वे बाकी 664 करोड़ रुपये का भी पूरा भुगतान कर दिया जाएगा। अगले वर्ष वे योजना परिव्यय वे लिए 17 हजार 323 करोड़ रुपये की व्यवस्था आंतरिक संसाधनों वे माध्यम से की जाएगी।

डायनैमिक प्राइसिंग एवं कमर्िशयल पॉलिसी

वर्ष 2006-07 àÉå माल परिवहन àÉå लागू की MÉ<Ç डायनैमिक प्राइसिंग पॉलिसी वे =iºÉÉc´ÉrÇBÉE परिणाम सामने +ÉɪÉä हैं।  àÉcÉänªÉ, ÉÊuiÉÉÒªÉ gÉähÉÉÒ BÉEä ÉÊBÉE®ÉªÉä àÉå 1 °ô{ɪÉä BÉEÉÒ BÉEàÉÉÒ +ÉÉè® ºÉÖ{É® {ÉEɺ] ]ÅäxÉ BÉEä ÉÊBÉE®ÉªÉä àÉå 20 |ÉÉÊiɶÉiÉ BÉEÉÒ BÉEàÉÉÒ BÉEÉÒ MÉ<Ç cè* A.ºÉÉÒ. +ÉÉè® 2 A.ºÉÉÒ. BÉEä ÉÊBÉE®ÉªÉä àÉå BÉEàÉÉÒ BÉEÉÒ PÉÉä­ÉhÉÉ BÉE®iÉÉ cÚÆ * {ÉEº] BÉDãÉÉºÉ BÉEä ÉÊBÉE®ÉªÉä àÉå BÉEàÉÉÒ, £ÉÉbÉ xÉcÉÓ ¤ÉfɪÉÉ*  ºÉ£ÉÉÒ BÉDãÉÉÉʺÉVÉ BÉEä ÉÊBÉE®ÉªÉÉå àÉå BÉEàÉÉÒ BÉEÉÒ cè*  अत: इस ´É­ÉÇ हमने एसी |ÉlÉàÉ एवं एसी ]Ú टियर श्रेणी BÉEÉÒ सभी यात्री ºÉä´ÉÉ+ÉÉå एवं नये ÉÊbVÉÉ<xÉ वे एसी mÉÉÒ टियर, एसी SÉäªÉ®BÉEÉ® वे डिब्बों àÉå पीक और xÉÉìxÉ-पीक {ÉÉÒÉÊ®ªÉb, लोकप्रिय और BÉEàÉ लोकप्रिय यात्री MÉÉÉʽªÉÉå में अलग-अलग दरों ºÉä किरायों में BÉEàÉÉÒ करने की xÉÉÒÉÊiÉ बनाई है। <ºÉÉÒ प्रकार, माल {ÉÉÊ®´ÉcxÉ वे लिए BÉEàÉÉʶÉǪÉãÉ पॉलिसी को £ÉÉÒ डायनैमिक बनाते cÖA व्यस्त और MÉè® व्यस्त गुड्स ]ÉÊàÉÇxÉãÉ  पर वारपेज रेट +ÉãÉMÉ-अलग ÉÊxÉvÉÉÇÉÊ®iÉ विए गए cé* …(Interruptions)

श्री लालू प्रसाद:

 

ªÉÉjÉÉÒ सेवायें

* मैंने अगस्त, 2005 में द्वितीय gÉähÉÉÒ वे ÉÊBÉE®ÉªÉä में 1 रुपये प्रत ªÉÉjÉÉÒ की BÉEàÉÉÒ करने BÉEÉÒ घोषणा BÉEÉÒ थी। ÉÊBÉE®ÉªÉÉå में BÉEÉÒ गई BÉEàÉÉÒ वे ¤ÉÉ´ÉVÉÚn हमारी ªÉÉjÉÉÒ आय àÉå 14 प्रतिशत की वृद्ध cÖ<Ç है। +ÉÉàÉ जनता BÉäE अपार ºxÉäc और ºÉàÉlÉÇxÉ वे BÉEÉ®hÉ ही ®äãÉ´Éä का BÉEɪÉÉBÉEã{É हुआ cè* अत: <ºÉ वर्ष £ÉÉÒ उपनगरीय ºÉä´ÉÉ+ÉÉå को UÉä½BÉE® अन्य ºÉ£ÉÉÒ साधारण {ÉèºÉåVÉ® एवं MÉè® सुपर {ÉEɺ] मेल-एक्सप्रेस MÉÉÉʽªÉÉå वे ÉÊuiÉÉÒªÉ श्रेणी BÉäE दैनिक ÉÊ]BÉE] वे ÉÊBÉE®ÉªÉä में 1 रुपये प्रत ªÉÉjÉÉÒ की BÉEàÉÉÒ की VÉÉAMÉÉÒ* महोदय càÉxÉä&

*……..* This part of the speech is  treated as laid on the Table.

दौरे मँहगाई में रेल ºÉºiÉÉÒ रखी,

पर BÉEàÉÉ<Ç में BÉEÉä<Ç कमी ना रखी।

गत ´É­ÉÇ कुछ MÉÉÉʽªÉÉå की º{ÉÉÒb बढ़ाकर =xcå सुपर {ÉEɺ] ट्रेन BÉEÉ दर्जा ÉÊnªÉÉ था। +ÉÉàÉ जनता BÉEÉÒ पुरजोर àÉÉÄMÉ पर àÉéxÉä निर्णय ÉÊãɪÉÉ है ÉÊBÉE सुपर {ÉEɺ] ट्रेन BÉäE द्वितीय gÉähÉÉÒ वे ÉÊ]BÉE] पर ãÉMÉxÉä वाले ºÉÖ{É® फास्ट SÉÉVÉÇ में 20 प्रतिशत की BÉEàÉÉÒ की VÉÉAMÉÉÒ*

महोदय, हमने नये ÉÊbVÉÉ<xÉ वे ºãÉÉÒ{É® क्लास, एसी चेयर BÉEÉ® एवं AºÉÉÒ थ्री ÉÊ]ªÉ® कोच iÉèªÉÉ® किये cé* वर्ष 2007-08 से इन =SSÉ क्षमता ´ÉÉãÉä कोचों BÉEÉ ही ÉÊxÉàÉÉÇhÉ किया VÉÉAMÉÉ* इस ¤É¸ÉÒ हुई FÉàÉiÉÉ वे ãÉÉ£É का ABÉE हिस्सा càÉxÉä अपने OÉÉcBÉEÉå वे ºÉÉlÉ बांटने BÉEÉ निर्णय ÉÊãɪÉÉ है। xɪÉä डिजाइन BÉäE स्लीपर BÉDãÉɺɠ BÉEÉäSÉ वे ÉÊBÉE®ÉªÉä में 4 प्रतिशत की ºÉÉàÉÉxªÉ कमी BÉEÉÒ जाएगी। ªÉc कमी ãÉÉÒxÉ और {ÉÉÒBÉE दोनों {ÉÉÒÉÊ®ªÉb में ãÉÉMÉÚ होगी। xɪÉä डिजाइन BÉäE एसी mÉÉÒ टियर A´ÉÆ एसी SÉäªÉ®BÉEÉ® वे ÉÊBÉE®ÉªÉä में ãÉÉÒxÉ सीजन àÉå 8 प्रतिशत और पीक ºÉÉÒVÉxÉ में 4 प्रतिशत की BÉEàÉÉÒ की VÉÉAMÉÉÒ* लोकप्रिय गाड़ियों वे =kÉE किराये àÉå पूरे ºÉÉãÉ यह BÉEàÉÉÒ 4 प्रतिशत ही होगी।

एसी |ÉlÉàÉ श्रेणी BÉäE किरायों àÉå लीन ºÉÉÒVÉxÉ में 6 और पीक ºÉÉÒVÉxÉ में 3 प्रतिशत की BÉEàÉÉÒ की VÉÉAMÉÉÒ* लोकप्रिय गाड़ियों वे ÉÊBÉE®ÉªÉÉå में {ÉÚ®ä साल 3 प्रतिशत की BÉEàÉÉÒ की VÉÉAMÉÉÒ*

एसी ]Ú टियर BÉäE किरायों àÉå लीन ºÉÉÒVÉxÉ में 4 प्रतिशत एवं {ÉÉÒBÉE सीजन àÉå 2 प्रतिशत की कमी BÉEÉÒ जाएगी। ãÉÉäBÉEÉÊ|ÉªÉ गाड़ियों BÉäE किरायों àÉå पूरे ºÉÉãÉ 2 प्रतिशत की कमी BÉEÉÒ जाएगी।

महोदय, मुंबई में cVÉÉ®Éå लोग ¤ÉÉc® से PÉÚàÉxÉä अथवा +ÉxªÉ कार्य ºÉä आते cé* ऐसे ãÉÉäMÉÉå की ºÉÖÉÊ´ÉvÉÉ वे ÉÊãÉA हमने àÉÖƤÉ<Ç उपनगरीय ºÉä´ÉÉ वे +ÉÆiÉMÉÇiÉ पायलट |ÉÉäVÉäBÉD] वे °ô{É में ABÉE दिन, तीन दिन +ÉÉè® पाँच ÉÊnxÉ वे ]ÚÉÊ®º] टिकट ÉÊxÉMÉÇiÉ करने BÉEÉ निर्णय ÉÊãɪÉÉ है। AäºÉä टिकटधारी टिकट की +É´ÉÉÊvÉ में {ÉÉζSÉàÉ एवं àÉvªÉ रेलवे BÉEÉÒ मुंबई ={ÉxÉMÉ®ÉÒªÉ सेवा BÉäE किसी £ÉÉÒ स्टेशन ºÉä किसी £ÉÉÒ स्टेशन iÉBÉE जितनी £ÉÉÒ बार SÉÉcå यात्रा BÉE® सवेंगे। <ºÉºÉä यात्रियों BÉEÉä टिकट JÉ®ÉÒnxÉä वे ÉÊãÉA बार-बार ãÉÉ<xÉ में xÉcÉÓ लगना {ɽäMÉÉ*

घर ¤Éè~ä इंटरनेट {É® ई-टिकट  बुक BÉE®ÉxÉä की |ÉhÉÉãÉÉÒ बेहद ãÉÉäBÉEÉÊ|ÉªÉ हुई cè* इसे +ÉÉè® बढ़ावा näxÉä वे =qä¶ªÉ से càÉxÉä निर्णय ÉÊãɪÉÉ है ÉÊBÉE प्रत्येक ºãÉÉÒ{É® ई-टिकट {É® लगने ´ÉÉãÉÉ चार्ज 25 रुपये से PÉ]ÉBÉE® 15 रुपये और प्रत्येक AºÉÉÒ ई-टिकट {É® 40 रुपये से घटाकर 20 रुपये कर ÉÊnªÉÉ जाएगा। =kÉE न्यूनतम SÉÉVÉÇ वे +ÉãÉÉ´ÉÉ प्रत +ÉÉÊiÉÉÊ®kÉE यात्री {É® 5 रुपए शुल्क देय cÉäMÉÉ* लेकिन ABÉE सेवेंड BÉDãÉÉºÉ स्लीपर ÉÊ]BÉE] पर näªÉ चार्ज 25 रुपये और AºÉÉÒ श्रेणी BÉEÉÒ टिकट {É® 40 रुपये से अधिक xÉcÉÓ होगा।

पार्सल एवं लगेज सेवाएं

महोदय, खुली नविदा BÉäE माध्यम ºÉä एसएलआर A´ÉÆ पार्सल ´ÉèxÉ को {ÉɺÉÇãÉ की +ÉxÉÖºÉÚÉÊSÉiÉ दर +ÉlÉ´ÉÉ उससे BÉEàÉ पर ãÉÉÒVÉ पर näxÉä की xÉÉÒÉÊiÉ वे +ÉSUä परिणाम ºÉÉàÉxÉä आये cé* लेकिन +É£ÉÉÒ भी AäºÉÉÒ अनेक MÉÉÉʽªÉÉÆ हैं ÉÊVÉxÉàÉå गत ´É­ÉÇ एस AãÉ आर FÉàÉiÉÉ का 60 प्रतिशत से BÉEàÉ उपयोग cÖ+ÉÉ है A´ÉÆ जिनकी ABÉE भी AºÉ एल +ÉÉ® अनुसूचित पार्सल दर +ÉlÉ´ÉÉ उससे +ÉÉÊvÉBÉE दर {É® खुली ÉÊxÉÉÊ´ÉnÉ निकालने वे बावजूद ãÉÉÒVÉ पर ãÉäxÉä वे +ÉÉì{ÉE® नहीं ÉÊàÉãÉä* युत्तिकरण की प्रािया BÉEÉä आगे ¤É¸ÉiÉä हुए càÉxÉä निर्णय ÉÊãɪÉÉ है ÉÊBÉE ऐसी ºÉ£ÉÉÒ गाड़ियों BÉäE पार्सल BÉEÉÒ अनुसूचित दर को =ºÉºÉä तत्काल xÉÉÒSÉä वाली gÉähÉÉÒ में bÉ=xÉOÉäb कर ÉÊnªÉÉ जाएगा। +ÉMÉ® कोई ]ÅäxÉ एक ÉÊn¶ÉÉ में +ÉxÉÖºÉÚÉÊSÉiÉ दर {É® लीज cÉä जाती cè लेकिन ãÉÉè]iÉÉÒ हुई ÉÊn¶ÉÉ में ÉÊxÉÉÊ´ÉnÉ निकालने पर भी ãÉÉÒVÉ वे +ÉÉì{ÉE® प्राप्त xÉcÉÓ होते cé और FÉàÉiÉÉ का ={ɪÉÉäMÉ 60 प्रतिशत से कम cÉäiÉÉ है iÉÉä लौटती cÖ<Ç दिशा àÉå उसकी gÉähÉÉÒ डाउनग्रेड BÉE® दी VÉÉAMÉÉÒ* इससे BÉEàÉ लोकप्रिय गाड़ियों की {ÉɺÉÇãÉ बुविंग n®Éå में BÉEàÉÉÒ होगी। {ÉɺÉÇãÉ एवं ãÉMÉäVÉ दरों BÉEÉÒ समीक्षा |ÉiªÉäBÉE वित्तीय ´É­ÉÇ वे |ÉlÉàÉ दो àÉcÉÒxÉÉå वे +ÉÆn® अर्थात् 31 मई तक {ÉÚ®ÉÒ कर ãÉÉÒ जाएगी।

महोदय, वर्तमान लगेज दर |ÉhÉÉãÉÉÒ वे +ÉÆiÉMÉÇiÉ सभी MÉÉÉʽªÉÉå में ãÉMÉäVÉ दर ®ÉVÉvÉÉxÉÉÒ गाड़ी BÉäE पार्सल ®ä] से 20 प्रतिशत अधिक cè* उल्लेखनीय है क ®ÉVÉvÉÉxÉÉÒ गाड़ी BÉEÉ पार्सल £ÉÉ½É साधारण {ÉèºÉåVÉ® गाड़ी BÉäE पार्सल £Éɽä से iÉÉÒxÉ गुना cÉäiÉÉ है। ãÉMÉäVÉ दरों BÉEÉä युत्तिसंगत बनाते हुए càÉxÉä निर्णय ÉÊãɪÉÉ है ÉÊBÉE जिन MÉÉÉʽªÉÉå में AºÉAãÉ+ÉÉ® वे ÉÊãÉA अनुसूचित पार्सल दरों {É® नविदा ÉÊxÉBÉEÉãÉxÉä पर £ÉÉÒ लीज BÉäE लिए +ÉÉì{ÉE® प्राप्त xÉcÉÓ होते A´ÉÆ जिनकी FÉàÉiÉÉ का ={ɪÉÉäMÉ 60 प्रतिशत से कम cè उनवे ãÉMÉäVÉ एवं {ÉɺÉÇãÉ बुविंग BÉEÉÒ दर ABÉE समान cÉäMÉÉÒ* इस ÉÊxÉhÉÇªÉ से ºÉÉvÉÉ®hÉ पैसेंजर MÉÉÉʽªÉÉå एवं MÉè® लोकप्रिय मेल एवं ABÉDºÉ|ÉäºÉ गाड़ियों BÉEÉÒ लगेज n®Éå में 60 प्रतिशत तक BÉEÉÒ कमी cÉäMÉÉÒ* *

माल व्यवसाय

महोदय, माल परिवहन में हो रही अभूतपूर्व वृद्ध को बनाये रखने वे लिए मैं मालभाड़े में निम्नांकित कमी एवं डिस्काउंट स्कीम की घोषणा करता हू:-

महोदय, मैंने गत ´É­ÉÇ bÉÒVÉãÉ +ÉÉè® {Éä]ÅÉäãÉ BÉäE àÉÉãÉ£Éɽä àÉå ãÉMÉ£ÉMÉ 9 प्रतिशत की कमी करते हुए उन्हें श्रेणी 240 से  PÉ]ÉBÉE® 220 श्रेणी पर ला दिया था। युत्तिकरण |ÉÉÊ#ÉEªÉÉ BÉEÉä +ÉÉMÉä ¤É¸ÉiÉä cÖA àÉé +ÉÉÊvÉBÉEiÉàÉ 220 क्लास को घटाकर क्लास 210 पर करने का प्रस्ताव करता हूँ। इससे डीजल, पेट्रोल, अमोनिया <iªÉÉÉÊn वे àÉÉãÉ£Éɽä àÉå ãÉMÉ£ÉMÉ 5 प्रतिशत की कमी होगी।

खनिज पदार्थ पर आधारित उद्योगों जैसे स्टील, सीमेंट इत्याद की माँग पर +ÉɪɮxÉ +ÉÉä®, लाइमस्टोन ºÉÉÊciÉ ºÉ£ÉÉÒ |ÉBÉEÉ® BÉäE JÉÉÊxÉVÉ {ÉnÉlÉÉç BÉäE {ÉÉÊ®´ÉcxÉ {É® àÉÉãÉ£ÉÉ½É gÉähÉÉÒ 170 की जगह 160 पर चार्ज किया जाएगा। इससे इन वस्तुअों वे मालभाड़े में लगभग 6 प्रतिशत की कमी होगी।

एम्प्टी {ÉDãÉÉä डायरेक्शन प्रेट डिस्काउंट स्कीम

हमारी मालगाड़ियाँ एक दिशा में लोड होकर जाती हैं लेकिन वापसी में अधिकांश गाड़ियाँ खाली लौटती हैं। खुली गाड़ियों वे खाली लौटने का प्रतिशत तो बहुत ही ज्यादा खराब है। गत वर्ष हमने एम्प्टी फ्लो डायरेक्शन में की गई अतरित्त लोडिंग पर लीन सीजन में 30 और पीक सीजन में 20 प्रतिशत तक माल भाड़े में छूट देने की घोषणा की थी। इस नीत को और धारदार बनाने वे लिए हमने इसमें कई महत्वपूर्ण परिवर्तन किये हैं। चूंक वापसी में गाड़ियों वे खाली लौटने की समस्या से रेलवे को पूरे साल जूझना पड़ता है इसलिए हमने निर्णय लिया है क पीक सीजन में भी एम्प्टी फ्लो डिस्काउंट 20 प्रतिशत की बजाय 30 प्रतिशत की दर ºÉä cÉÒ ÉÊnªÉÉ VÉÉAMÉÉ* ªÉc ÉÊbºBÉEÉ=Æ] खुली एवं BÉE´ÉbÇ nÉäxÉÉå |ÉBÉEÉ® BÉEÉÒ MÉÉÉʽªÉÉå àÉå ãÉÉÒxÉ A´ÉÆ {ÉÉÒBÉE nÉäxÉÉå ºÉÉÒVÉxÉÉå àÉå ºÉÉiÉ ºÉÉè ÉÊBÉEãÉÉäàÉÉÒ]® से +ÉÉÊvÉBÉE BÉEÉÒ ãÉÉÒb ´ÉÉãÉä ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE पर näªÉ cÉäMÉÉ* VÉÉäxÉãÉ ®äãÉ´Éä BÉäE àÉcÉ|ɤÉÆvÉBÉEÉå को विशेष परिस्थित में 700 किलोमीटर ºÉä BÉEàÉ ãÉÉÒb BÉäE ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE पर £ÉÉÒ ªÉc ÉÊbºBÉEÉ=Æ] देने वे +ÉÉÊvÉBÉEÉ® दिये जाएंगे।

वर्तमान में गेहूँ, खाद A´ÉÆ ºÉÉÒàÉå] BÉäE ¤ÉèMÉÉå BÉEÉÒ JÉÖãÉÉÒ MÉÉÉʽªÉÉå àÉå ãÉÉäÉÊbÆMÉ ÉÊBÉEªÉä VÉÉxÉä {É® #ÉEàɶÉ& 20, 30 एवं 15 प्रतिशत डिस्काउंट दिया जाता है * ªÉc ÉÊbºBÉEÉ=Æ] लोडेड एवं Aà{]ÉÒ {ÉDãÉÉä nÉäxÉÉå ÉÊn¶ÉÉ+ÉÉå àÉå ÉÊàÉãÉiÉÉ cè* +É¤É càÉxÉä ÉÊxÉhÉÇªÉ ÉÊãɪÉÉ cè ÉÊBÉE JÉÖãÉÉÒ MÉÉÉʽªÉÉå àÉå ¤ÉÉä®ÉÒ¤ÉÆn वस्तुअों की इन्ाीमेंटल लोडिंग एम्प्टी फ्लो डायरेक्शन में ÉÊBÉEªÉä VÉÉxÉä {É® ¤ÉÉä®ÉÒ¤ÉÆn वस्तुअों पर ÉÊnªÉä VÉÉxÉä ´ÉÉãÉä =kÉE ÉÊbºBÉEÉ=Æ] वे +ÉÉÊiÉÉÊ®kÉE 30 प्रतिशत की दर से एम्प्टी फ्लो डिस्काउंट भी दिया जाएगा लेकिन उत्त दोनों प्रकार वे डिस्काउंट देने पर न्यूनतम देय राश एलआर थ्री श्रेणी पर देय मालभाड़े से कम नहीं होगी। इस प्रकार खुली गाड़ियों वे एम्प्टी फ्लो डायरेक्शन àÉå ºÉÉÒàÉå], गेहूँ एवं खाद वे बैगों की इन्ाीमेंटल ãÉÉäÉÊbÆMÉ cÉäxÉä {É® ÉÊbºBÉEÉ=Æ] की दर ¤É¸BÉE® ãÉMÉ£ÉMÉ 40 प्रतिशत तक हो जाएगी। मुझे विश्वास है क इस तरह वे भारी डिस्काउंट देकर हम एफसीआई +ÉÉè® ÉÊ´ÉÉÊ£ÉzÉ JÉÉn, सीमेंट वंपनियों BÉEÉä JÉÉãÉÉÒ ãÉÉè]iÉÉÒ JÉÖãÉÉÒ MÉÉÉʽªÉÉå àÉå ãÉÉäÉÊbÆMÉ BÉE®xÉä BÉäE ÉÊãÉA +ÉÉBÉEÉÊ­ÉÇiÉ कर ºÉBÉäÆEMÉä* इन्ाीमेंटल लोडिंग की गणना वैगन टाइप वे +ÉxÉÖºÉÉ® BÉEÉÒ VÉÉAMÉÉÒ*

एम्प्टी फ्लो डायरेक्शन में की जाने वाली लोडिंग में ब्लॉक रेक लोडिंग वे अतरित्त ट्रेन लोड से कम लोडिंग करने की भी सुविधा दी जाएगी। खुली गाड़ियों में 31 से 57 वैगनों की लोडिंग करने पर 20 प्रतिशत और 20 से 30 वैगनों पर 10 प्रतिशत डिस्काउंट देय होगा। कवर्ड गाड़ियों में 31 से 39 वैगनों की लोडिंग करने पर 20 प्रतिशत और 20 से 30 वैगनों पर 10 प्रतिशत डिस्काउंट देय होगा। पीक सीजन में 20 वैगनों से BÉEàÉ BÉEÉÒ ãÉÉäÉÊbÆMÉ BÉE®xÉä BÉEÉÒ ºÉÖÉÊ´ÉvÉÉ xÉcÉÓ nÉÒ VÉÉAMÉÉÒ* ãÉäÉÊBÉExÉ VÉÖãÉÉ<Ç से ÉʺÉiÉƤɮ àÉÉc iÉBÉE BÉäE xÉÉìxÉ-पीक सीजन में 15 से 19 वैगनों की लोडिंग करने की भी ºÉÖÉÊ´ÉvÉÉ cÉäMÉÉÒ ãÉäÉÊBÉExÉ BÉEÉä<Ç ÉÊbºBÉEÉ=Æ] देय xÉcÉÓ cÉäMÉÉ*

सम्प्रत, यह ÉÊbºBÉEÉ=Æ] कोल, कोक एवं स्टील प्लांट वे सभी प्रकार वे कच्चे माल वे ट्रैफिक पर देय नहीं है। इस छूट को और व्यापक बनाने वे द्ृष्टिकोण से यह प्रस्ताव है क कोल, कोक एवं आयरन ओर को छोड़कर अन्य सभी वस्तुअों पर यह छूट देय होगी।

टू लेग प्रेट डिस्काउंट ºBÉEÉÒàÉ

यह भी निर्णय लिया गया है क कवर्ड गाड़ियों में आने एवं जाने दोनों तरफ का ट्रेन लोड ट्रैफिक मिलने पर लीन सीजन में 20 प्रतिशत और पीक सीजन में 15 प्रतिशत डिस्काउंट दोनों तरफ वे ट्रैफिक पर दिया जाएगा। उत्त डिस्काउंट एलआर-1 अथवा उससे नीचे की श्रेणी की वस्तुअों पर देय नहीं होगा।

नॉन {ÉÉÒBÉE सीजन इन्ाीमेंटल प्रेट डिस्काउंट स्कीम

15 प्रतिशत की दर से इन्ाीमेंटल |ÉäE] ÉÊbºBÉEÉ=Æ] की बदौलत लीन सीजन में MÉÉÉʽªÉÉå BÉäE JÉÉãÉÉÒ JÉ½ä ®cxÉä BÉEÉÒ ºÉàɺªÉÉ ºÉä |É£ÉÉ´ÉÉÒ iÉ®ÉÒBÉäE ºÉä ÉÊxÉ{É]xÉä àÉå càÉå ºÉ{ÉEãÉiÉÉ ÉÊàÉãÉÉÒ cè* <ºÉ ªÉÉäVÉxÉÉ BÉEÉä +ÉÉè® =nÉ® ¤ÉxÉÉiÉä cÖA càÉxÉä ÉÊxÉhÉÇªÉ ÉÊãɪÉÉ cè ÉÊBÉE ºÉ£ÉÉÒ ÉÊBÉEºàÉ BÉäE BÉEÉäªÉãÉä, कोक, आयरन ओर एवं 120 अथवा उससे नीचे की श्रेणी की वस्तुअों को छोड़कर अन्य सभी वस्तुअों की इन्ाीमेंटल लोडिंग पर ãÉÉÒxÉ ºÉÉÒVÉxÉ àÉå ªÉc ÉÊbºBÉEÉ=Æ] देय cÉäMÉÉ* ãÉÉÒxÉ {ÉÉÒÉÊ®ªÉb BÉäE nÉè®ÉxÉ ¤Éäcn ãÉÉäBÉEÉÊ|ÉªÉ टू {´ÉÉ<Æ] ®äBÉE ºBÉEÉÒàÉ àÉå nÉä +ÉxÉãÉÉäÉÊbÆMÉ प्वाइंट की एक nÚºÉ®ä ºÉä nÚ®ÉÒ BÉEÉÒ ºÉÉÒàÉÉ nÉä ºÉÉè ÉÊBÉEãÉÉäàÉÉÒ]® से ¤É¸ÉBÉE® SÉÉ® ºÉÉè ÉÊBÉEãÉÉäàÉÉÒ]® की जाएगी।

वस्तु +ÉÉvÉÉÉÊ®iÉ प्रेट पॉलिसी

वस्तु विशेष वे ग्राहकों की आवश्यकताएं एवं अपेक्षाएं भिन्न-भिन्न होती हैं। {ÉÉÊ®´ÉcxÉ BÉEÉÒ VÉÉxÉä ´ÉÉãÉÉÒ |ÉàÉÖJÉ ´ÉºiÉÖ+ÉÉå BÉäE OÉÉcBÉEÉå BÉEÉÒ VÉ°ô®iÉÉå BÉEÉä ¤ÉäciÉ® iÉ®ÉÒBÉäE ºÉä {ÉEÉäBÉEºÉ BÉE®xÉä A´ÉÆ ®äãÉ´Éä BÉEÉÒ |ÉÉÊiɪÉÉäMÉÉÒ क्षमता को मजबूत आधार प्रदान करने वे ÉÊãÉA càÉxÉä ´ÉºiÉÖ +ÉÉvÉÉÉÊ®iÉ टैरिफ प्रणाली विकसित करने का ÉÊxÉhÉÇªÉ ÉÊãɪÉÉ cè* <ºÉ xÉ<Ç |ÉhÉÉãÉÉÒ BÉEÉä <ºÉ ´É­ÉÇ càÉ |ɪÉÉäMÉ BÉäE iÉÉè® {É® ºÉÉÒàÉå] BÉäE ÉÊãÉA ABÉE ABÉDºÉBÉDãÉÚÉÊºÉ´É पैवेज देकर एक +É|ÉèãÉ ºÉä ãÉÉMÉÚ BÉE®åMÉä*

डायनैमिक कामर्िशयल पॉलिसी

गत ´É­ÉÇ मैंने àÉÉãÉ लदान BÉäE लिए bɪÉxÉèÉÊàÉBÉE प्राइसिंग पॉलिसी की PÉÉä­ÉhÉÉ की lÉÉÒ जिसवे +ÉɶÉÉiÉÉÒiÉ परिणाम ºÉÉàÉxÉä आए cé* इस |ÉÉÊ#ÉEªÉÉ को +ÉÉMÉä बढ़ाते cÖA हमने BÉEàÉÉʶÉǪÉãÉ पॉलिसी BÉEÉä भी bɪÉxÉèÉÊàÉBÉE बनाने BÉEÉ निर्णय ÉÊãɪÉÉ है।

डायनमिक वारपेज रेट

वर्तमान àÉå छोटे +ÉÉè® बड़े, व्यस्त और JÉÉãÉÉÒ पड़े ºÉ£ÉÉÒ प्रकार BÉäE टर्िमनल्स {É® फ्री ]É<àÉ और ´ÉÉ®{ÉäEVÉ की n® एक ºÉàÉÉxÉ है। FÉàÉiÉÉ से BÉEàÉ उपयोग cÉä रहे UÉä]ä टर्िमनल्स {É® हमने ãÉÉäÉÊbÆMÉ से {ÉcãÉä और +ÉxÉãÉÉäÉÊbÆMÉ वे ¤ÉÉn मिलने ´ÉÉãÉä फ्री ]É<àÉ में ´ÉßÉÊr करने +ÉÉè® वारपेज ®ä] में BÉEàÉÉÒ करने BÉEÉ निर्णय ÉÊãɪÉÉ है।

डायनैमिक डैमरेज रेट

संप्रत {ÉÚ®ä साल ABÉE समान bèàÉ®äVÉ रेट ãÉMÉiÉä हैं VɤÉÉÊBÉE वैगनों BÉEÉÒ उपयोगिता पीक सीजन àÉå अधिक +ÉÉè® नॉन-पीक ºÉÉÒVÉxÉ में +É{ÉäFÉÉBÉßEiÉ कम cÉäiÉÉÒ है।  अत: càÉxÉä निर्णय ÉÊãɪÉÉ है ÉÊBÉE प्रायोगिक तौर से BÉEÉÊiÉ{ÉªÉ टर्िमनल्स {É® व्यस्तता BÉEÉÒ अवस्था BÉäE अनुरूप xÉÉìxÉ-पीक पीरियड àÉå फ्री ]Éì<àÉ सामान्य ºÉä एक PÉÆ]É अधिक ÉÊnªÉÉ जाएगा।

ट्रैफिक °ô] आधारित ]èÉÊ®{ÉE पॉलिसी

रेलवे BÉEÉ आधे ºÉä अधिक ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE सघन àÉÉMÉÉç पर SÉãÉiÉÉ है। ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE की BÉEàÉÉÒ वे BÉEÉ®hÉ दो ÉÊiÉcÉ<Ç रेल xÉä]´ÉBÉÇE का FÉàÉiÉÉ से BÉEÉ{ÉEÉÒ कम ={ɪÉÉäMÉ हो ®cÉ है। +ÉiÉ& हमने ÉÊxÉhÉÇªÉ लिया cè क AäºÉÉ माल ]ÅèÉÊ{ÉEBÉE जो ÉÊBÉE लाइन FÉàÉiÉÉ से BÉEàÉ उपयोग cÉä रहे àÉÉMÉÉç पर ãÉnÉxÉ होगा +ÉÉè® उन्हीं àÉÉMÉÉç पर cÉÒ उतरेगा, उसमें सामान्य àÉÉãÉ£Éɽä में UÚ] दी VÉÉAMÉÉÒ* इस ºÉƤÉÆvÉ में ÉʴɺiÉßiÉ अनुदेश ªÉlÉɶÉÉÒQÉ निर्गत ÉÊBÉEªÉä जाएंगे।

वैगन इन्वेस्टमेंट स्कीम का उदारीकरण

वर्तमान àÉä वैगन <x´Éäº]àÉå] स्कीम +ÉlÉ´ÉÉ वंटेनर ]ÅäxÉ लाईसेंसधारियों को वैगन JÉ®ÉÒnxÉä पड़ते cé* प्रस्ताव cè क BÉEÉä<Ç भी ´ªÉÉÊkÉE वैगन A´ÉÆ वंटेनर ´ÉèMÉxÉ स्वयं JÉ®ÉÒnBÉE® अथवा ãÉÉÒVÉ पर ãÉäBÉE® इन ªÉÉäVÉxÉÉ+ÉÉå का ãÉÉ£É उठा ºÉBÉEiÉÉ है। ´ÉiÉÇàÉÉxÉ में ´ÉèMÉxÉ इन्वेस्टमेंट स्कीम खुले +ÉÉè® कवर्ड ´ÉèMÉxÉ सीमित cé* इसवे ãÉÉ£É को +ÉÉè® व्यापक ¤ÉxÉÉxÉä वे ÉÊãÉA प्रस्ताव cè क ´ÉèMÉxÉ इनवेस्टमेंट स्कीम का ãÉÉ£É अन्य |ÉBÉEÉ® वे VÉxÉ®ãÉ परपज +ÉlÉ´ÉÉ वस्तु ÉʴɶÉä­É वे ÉÊãÉA उपयुत्त ´ÉèMÉxÉÉå पर £ÉÉÒ उपलब्ध BÉE®ÉªÉÉ जाएगा। àÉÉä]®´ÉÉcxÉ जैसी cãBÉEÉÒ वस्तुअों BÉäE वैगन BÉäE लिए |ÉäE] प्रत ]xÉ किलोमीटर की बजाय |ÉÉÊiÉ ट्रेन ÉÊBÉEãÉÉäàÉÉÒ]® वे +ÉÉvÉÉ® पर ÉÊxÉvÉÉÇÉÊ®iÉ करने BÉäE प्रस्ताव {É® भी ÉÊ´ÉSÉÉ® किया VÉÉAMÉÉ*

उपसंहार

महोदय, भारतीय रेल iÉäVÉÉÒ से ABÉE सशत्त +ÉÉè® जीवंत ºÉƺlÉÉ वे °ô{É में =£É® रही cè* माननीय |ÉvÉÉxÉàÉÆjÉÉÒ जी xÉä नित xÉ<Ç ऊंचाइयाँ छूने में càÉä¶ÉÉ हमें àÉÉMÉÇn¶ÉÇxÉ, |ÉÉäiºÉÉcxÉ, +ÉÉè® समर्थन ÉÊnªÉÉ है। ºÉnxÉ वे àÉÉxÉxÉÉÒªÉ सदस्यों xÉä हमारी xÉÉÒÉÊiɪÉÉå का {ÉÖ®VÉÉä® समर्थन BÉE® और ®äãÉ परिवार àÉå विश्वास ´ªÉkÉE कर càÉÉ®É मनोबल +ÉÉè® आत्मविश्वास बढ़ाया है:

हर साल नया साल तरक्की का, प्रगत का।

आपका है साथ तो फिर ये सफर जारी रहेगा॥

महोदय,  किराया नहीं बढाया बल्कि कमी की है।……(व्यवधान) यह जनता का बजट है। माननीय प्रधानमंत्री और श्रीमती सोनिया गांधी के मार्गदर्शन में रेलवे अपनी ऊंचाईयों पर पहुंच गया है, इसलिये ये लोग सुनना नहीं चाहते हैं। इन लोगों काइस से कोई मतलब नहीं है ……(व्यवधान)

महोदय, इन शब्दों BÉäE साथ àÉé 2007-08 का रेल बजट ºÉnxÉ में ºÉƺiÉÖiÉ करता cÚÄ*

—————-

 

 

MR. SPEAKER: Matters under Rule 377 listed for the day will be treated as laid on the Table of the House.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *